पीएम मोदी का तेजस्वी पर निशाना- जैसे दिल्ली में शहजादा है, वैसे ही पटना में भी शहजादा है

May 4, 2024 - 17:37
 0  41
पीएम मोदी का तेजस्वी पर निशाना- जैसे दिल्ली में शहजादा है, वैसे ही पटना में भी शहजादा है

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को दरभंगा के राज मैदान में बीजेपी प्रत्याशी गोपालजी ठाकुर के समर्थन में एक जनसभा को संबोधित किया। पीएम ने अपना संबोधन मैथिलि में संबोधित करते हुए कहा कि राजा जनक, सीता मैया के पावन मिथिला भूमि के नमन करए छी। इसके बाद उन्होंने भारत माता की जय और जय श्री राम का उद्घोष किया।

पीएम मोदी ने अपने भाषण में राम मंदिर निर्माण की बधाई देते हुए कहा कि 500 साल का इंतजार खत्म हुआ. जब अयोध्या में रामलला की प्रतिष्ठा हो रही थी तो मैंने कहा था कि अब भारत आने वाले 1000 वर्षों का भविष्य लिखेगा. कई बार इतिहास की एक घटना भी कई शताब्दियों का भाग्य तय कर देती है। चाहे दरभंगा का एयरपोर्ट हो या फिर रेलवे स्टेशन या अमृत भारत ट्रेन। हर तरफ तेजी से काम हो रहा है। दरभंगा एम्स के निर्माण में हो रही दिक्कतों को भी दूर किया जा रहा है।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि आज भारत फिर अपनी सभी बेड़ियां तोड़ कर खड़ा हो गया है। विश्व में भारत की साख नई ऊंचाई पर है। भारत चांद पर पहुंच गया है, जहां आज तक कोई नहीं पहुंच सका। 10 साल पहले हम दुनिया की 11वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था थे, लेकिन सिर्फ 10 साल में हम दुनिया की 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गए हैं।

पीएम मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि जैसे एक शहजादे दिल्ली में है वैसे ही एक शहजादे पटना में हैं। एक शहजादे ने बचपन से पूरे देश को और दूसरे शहजादे ने पूरे बिहार को अपना जागीर समझा है। दोनों का रिपोर्ट कार्ड भी एक जैसा ही है। इनके रिपोर्ट कार्ड में घोटालों और बेलगाम कानून-व्यवस्था के अलावा और कुछ नहीं है। नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए सरकार बिहार के विकास के लिए दिन-रात काम कर रही है। 

पीएम मोदी ने तेजस्वी के सनातन और हिंदुओं को लेकर दिए बयान पर कहा कि मैंने जबसे कांग्रेस, राजद के इरादों को बेनकाब किया है ये लोग बौखला गए हैं। अब राजद ने यह गिनना शुरू कर दिया है कि सेना में कौन हिंदू है, कौन मुसलमान है। देश की रक्षा के लिए जो सीने पर गोली खाता है वह पहले भारतीय होता है और यह राजद के लोग उसे हिंदू-मुसलमान की नजर से देखते हैं। मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि क्या अब्दुल हमीद जी को हम सिर्फ इसलिए याद करते हैं कि वे मुसलमान थे?

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow