शनि जयंती 2024: जानें तिथि, महत्व और पूजा विधि

Jun 5, 2024 - 17:29
 0  28
शनि जयंती 2024: जानें तिथि, महत्व और पूजा विधि

ज्योतिष और आध्यात्मिक दृष्टिकोण से शनि देव की उपासना को बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है। शनिदेव एकमात्र ऐसे देवता हैं, जिनकी उपासना श्रद्धा भाव के साथ-साथ भय के कारण भी की जाती है। ऐसा इसलिए क्योंकि शनि देव न्याय के देवता है और ज्योतिष शास्त्र यह बताया गया है कि जिस व्यक्ति की कुंडली में शनि की क्रूर दृष्टि होती है, उन्हें कई प्रकार कि समस्याओं का सामना करना पड़ता है। 

शनिदेव की उपासना के लिए शनिवार दिन के साथ-साथ ज्येष्ठ कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि को सबसे फलदाई माना जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि इसी दिन शनि जयंती पर्व मनाया जाता है। आइए जानते हैं, इस वर्ष कब है शनि जयंती पर्व, तिथि, महत्व और पूजा विधि-

शनि जयंती 2024 तिथि

भारत में शनि जयंती पर्व दो बार मनाया जाता है। उत्तर भारत में यह पर्व ज्येष्ठ मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि के दिन मनाया जाता है और दक्षिण भारत में शनि देव की विशेष उपासना वैशाख मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि के दिन की जाती है। 

बता दें कि वैशाख कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि 08 मई 2024, बुधवार के दिन पड़ रही है। वहीं ज्येष्ठ मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि 05 जून शाम 07:55 से शुरू होगी और इस तिथि का समापन 06 जून शाम 06:07 पर होगा। उदया तिथि के अनुसार, उत्तर भारत में शनि जयंती पर्व 06 जून 2024, गुरुवार के दिन मनाया जाएगा।

शनि जयंती का क्या है महत्व

शनि जयंती पर्व के दिन जो व्यक्ति उपवास के साथ-साथ शनिदेव की उपासना करता है, उन्हें जीवन में सुख-समृद्धि का आशीर्वाद प्राप्त होता है। इसी दिन वट सावित्री व्रत भी रखा जाता है। शनि देव न्याय के देवता हैं और भगवान सूर्य के पुत्र हैं। जिस व्यक्ति की कुंडली में शनि नीच स्थिति में होते हैं, उन्हें शनि जयंती के दिन पूजा-पाठ अवश्य करनी चाहिए। इसके साथ-साथ जिन जातकों की कुंडली में शनि की साढ़ेसाती, ढैय्या या शनि दोष चल रही है, उन्हें भी शनि जयंती के दिन पूजा-पाठ करनी चाहिए। इससे शनि ग्रह के दुष्प्रभाव को काम किया जा सकता है।

शनि जयंती पूजा विधि

शनि जयंती पर भगवान शनिदेव को तिल का तेल और काला कपड़ा चढ़ाएं। शमी पेड़ के पत्ते और अपराजिता के नीले फूल खासतौर से इनकी पूजा में शामिल करने चाहिए। तिल, उड़द, काला कंबल, बादाम, लोहा, कोयला इन वस्तुओं पर शनि का प्रभाव होता है। जरूरतमंद लोगों को अनाज, धन, कपड़े, जूते-चप्पल, छाते का दान करें। इससे भगवान प्रसन्न होते हैं।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow