आज जबलपुर मांगेगा अपना अधिकार

Jun 6, 2024 - 14:17
 0  22
आज जबलपुर मांगेगा अपना अधिकार

नो फ्लाइंग डे आज

जबलपुर। आज 6 जून को जबलपुरवासी एक अनोखे आंदोलन के साक्षी बनने जा रहे हैं जब जबलपुर को वायुमार्ग से विभिन्न शहरों से जोड़ने के आंदोलन की कड़ी में नो फ्लाइंग डे मनाया जाएगा। लगभग दो माह से जबलपुर को विभिन्न शहरों से फ्लाइट कनेक्टिविटी दिलवाने के लिए आंदोलनरत, वायु सेवा संघर्ष समिति द्वारा आयोजित नो फ्लाइंग डे को जनता का भरपूर समर्थन प्राप्त हुआ है। समिति संयोजक हिमांशु खरे ने बताया कि आज के दिन यात्रियों से आग्रह किया गया है कि वह जबलपुर की वायु यात्रा न करें तथा विमानन कंपनियों का बहिष्कार करें। उन्होंने बताया कि जबलपुर से पूर्व में लगभग 16 फ्लाइट चलती थी जो कि अब गिरते गिरते छह हो चुकी हैं। अपनी अपेक्षाओं का दंश झेल रहे जबलपुर में जब वायु सेवाओं की कटौती हुई तो सिर्फ जबलपुर ही नहीं बल्कि आसपास के अनेकों जिलों तक इसकी भर्त्सना की गई। गिरती हुई विमानों की संख्या से उद्योग व्यापार के साथ ही विधि कार्य, चिकित्सकीय कार्य जैसे अनेकों महत्वपूर्ण कार्य प्रभावित हुए। 

वायु सेवा संघर्ष समिति के शंकर, नागदेव, बलदीप मैनी, गीता शरत तिवारी, जितेंद्र पचौरी, राजेश जैन पिंकी ने बताया कि चूंकि अब विमान सेवाएं उपयोगिता की वस्तु है अतः इससे युवाओं का भविष्य भी संबंधित है। जबलपुर के युवा जो अन्य शहरों में उच्च शिक्षा अथवा रोजगार के लिए जाते हैं वे भी फ्लाइट कनेक्टिविटी के बिना परेशान है एवं जो कॉलेज जबलपुर में स्थित है उन्हें भी फ्लाइट की कमी होने का खामियाजा भगतना पड़ता है क्योंकि कैंपस सिलेक्शन में कंपनियां जबलपुर का रुख नहीं करती। 

आज संघर्ष समिति की वृहद बैठक आयोजित की गई जिसमें नो फ्लाइंग डे की रूपरेखा को सार्वजनिक किया गया। समिति के मनु तिवारी, अनूप अग्रवाल, दीपक सेठी, अरुण पवार, अखिलेश मेहता अंजू भार्गव, अजीत पवार, प्रीति चौधरी, आरिफ बेग आदि ने बताया की 6 जून को दोपहर 3:30 पर सभी नागरिकगण अपने-अपने वाहनों से नर्मदा क्लब, टैगोर गार्डन सदर के सामने एकत्रित होंगे तथा 4:00 बजे वहां से डुमना विमानतल की ओर प्रस्थान किया जाएगा। डुमना विमानतल के बाहर आयोजित भव्य कार्यक्रम में जबलपुर के हक की आवाज उठाई जाएगी तथा गिरती हुई विमान सेवाओं पर प्रतिकार किया जाएगा। आयोजन में नो फ्लाइंग डे पर दोपहिया तथा चार पहिया वाहनों की वाहन साज सज्जा प्रतियोगिता भी आयोजित की गई है जिसमें श्रेष्ठ सजावट को पुरस्कृत किया जाएगा। आयोजन स्थल पर माननीय प्रधानमंत्री के नाम कलेक्टर जबलपुर को ज्ञापन सौंपा जाएगा। वायु सेवा संघर्ष समिति के इस वृहद आयोजन में नरसिंहपुर, मंडला, कटनी, सतना, रीवा, उमरिया, शहडोल, मैहर, सिवनी, बालाघाट आदि शहरों के नागरिकगण भी उपस्थित हो रहे हैं। 

संघर्ष समिति के सोहन परोहा, बसंत मिश्रा ने बताया कि नो फ्लाइंग डे को जबलपुर के तमाम संस्थाओं ने अपना भरपूर समर्थन दिया है जिसमें कैट, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, जबलपुर होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन, इस्कॉन, इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ आर्किटेक्ट्स, अग्रवाल महासभा, लायंस क्लब, सेंट जोसेफ कान्वेंट जबलपुर एलुमनी संगठन, जबलपुर लेडीज क्लब, वेस्ट सेंट्रल रेलवे इलेक्ट्रिकल कांट्रेक्टर एसोसिएशन, संस्कारधानी महिला सर्व ब्राह्मण महासंघ, हाउबाग गोरखपुर व्यापारी संघ, नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच, महाकौशल कायस्थ परिषद, आईटी संगठन, अखिल भारतवर्षीय दिगंबर जैन महिला परिषद आदिनाथ शाखा जबलपुर, कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स डीलर एसोसिएशन, जबलपुर इलेक्ट्रिकल डीलर एसोसिएशन, जबलपुर मोबाइल डीलर एसोसिएशन, महाकौशल कंप्यूटर डीलर एसोसिएशन, टेट्रानिक्स ग्रुप, परोहा बिल्डर्स एंड डेवलपर्स जबलपुर, पेट्रोल डीजल डीलर वेलफेयर एसोसिएशन, महाकौशल कोरियर संगठन, तक्षशिला कॉलेज, सेवानिवृत पुलिस अधिकारी कल्याण संघ, जैन सोशल ग्रुप, मध्य प्रदेश पूर्व क्षेत्र प्रादेशिक माहेश्वरी सभा, तकनीकी अधिकारी कर्मचारी संघ नगर निगम, भार्गव समाज, ब्राह्मण एकता मंच, ममीज ऑफ़ जबलपुर, नर्मदा क्लब लेडीज ग्रुप, फन पंजाबी क्लब, नेपियर टाउन सिटीजंस फोरम, अखिल भारतीय कायस्थ महासभा, प्रतिकल्पा फाउंडेशन, जैन इंटरनेशनल ट्रेड ऑर्गेनाइजेशन, ऑल इंडिया वूमेन कॉन्फ्रेंस, हार्डवेयर एंड सेनेटरी वेयर मर्चेंट्स एसोसिएशन, सुपर मेडिकोज ग्रुप, जबलपुर मोटर पार्ट्स डीलर वेलफेयर एसोसिएशन सहित बड़ी संख्या में संगठनों ने जबलपुर के वायु संघर्ष में अपनी सहभागिता सुनिश्चित की है। 

वायु सेवा संघर्ष समिति ने जबलपुर के नागरिकों से आग्रह किया है कि वह आधिकारिक संख्या में डुमना विमानतल पहुंचकर नो फ्लाइंग डे के आंदोलन को सफल बनाएं।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow