इंदौर में शंकर लालवानी ने बनाया सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड, नोटा को मिले रिकार्ड तोड़ मत 

Jun 4, 2024 - 17:14
 0  21
इंदौर में शंकर लालवानी ने बनाया सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड, नोटा को मिले रिकार्ड तोड़ मत 

इंदौर। इंदौर लोकसभा चुनाव परिणाम में भाजपा प्रत्याशी शंकर लालवानी ने देश की सबसे बड़ी जीत दर्ज की है। उन्हें 12 लाख 26 हजार 751 वोट मिले हैं। भाजपा ने यहां पर अपना पिछला रिकॉर्ड तोड़ दिया है। देश में सबसे ज्यादा वोट मिले। जीत का अंतर 1,00,8077 है। 

इससे पहले, 2019 में सबसे बड़ी गुजरात की नवसार सीट के नाम पर थी। वहां भाजपा के सीआर पाटिल नवसार सीट से 6.90 लाख वोटों से जीते थे। 

इसके साथ इंदौर में नोटा को 2,18,674 ज्यादा वोट मिल गए हैं। अब तक देश में रिकॉर्ड बिहार की गोपालगंज सीट के नाम पर था। उसे 2019 में देश में सबसे ज्यादा 51,600 वोट मिले थे। इंदौर के परिणाम की देशभर में चर्चा है।

इंदौर में शंकर लालवानी जीत के बाद नेहरू स्टेडियम पहुँचे और बोले कांग्रेस नकारात्मक रूप में थी इस वजह से नोटा वोट ज़्यादा है। भाजपा ने पिछली बार से अच्छा प्रदर्शन किया ये मोदी जी के कारण संभव हुआ है। उन्होंने कहा यह जीत मोदीजी के विकास कार्यो की जीत है विकास कि जीत है। कांग्रेस जिसका प्रचार कर रही थी, उसको पिछले चुनाव से कम वोट दिला पाई है।  

बता दें कि इंदौर में कांग्रेस के लोकसभा प्रत्याशी अक्षय कांति बम ने चुनाव से ठीक पहले नामांकन वापस ले लिया था। इस वजह से कांग्रेस इंदौर में चुनाव नहीं लड़ पाई। कांग्रेस ने जनता से अपील की थी कि नोटा पर वोट दे और अपना विरोध दर्ज करवाए। 

वहीं, लोकसभा चुनाव 2019 की बात की जाए तो इंदौर से भाजपा के शंकर लालवानी को इस सीट से जीत मिली थी। शंकर लालवानी ने इस सीट पर कांग्रेस के पंकज संघवी को 5 लाख 47 हजार वोट के मार्जिन से हराया था।  शंकर लालवानी को 1,068,569 वोट मिले थे। जबकि, पंकज संघवी को 5,20,815 वोट मिले थे।  

2014 में भी भाजपा को यहां से जीत मिली थी। 2014 में भाजपा की सुमित्रा महाजन ने यहां पर कांग्रेस प्रत्याशी सत्यनारायण पटेल को हराया था। तब सुमित्रा महाजन को 854,972 वोट मिले थे और सत्यनारायण पटेल को 3,88,071 वोट मिले थे। 

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow