इंदौर जिले में लोकतंत्र के महोत्सव के लिये अपार उत्साह

May 12, 2024 - 21:10
 0  26
इंदौर जिले में लोकतंत्र के महोत्सव के लिये अपार उत्साह

जिले में 2677 मतदान केन्द्रों पर मतदान के लिये तैनात किये गये 11 हजार से अधिक अधिकारी-कर्मचारी
अपार उत्साह के बीच मतदान दलों को सुव्यवस्थित रूप से वितरित की गई मतदान सामग्री - व्यवस्थाओं को देख अभिभूत हुए मतदानकर्मी
निर्वाचन सामग्री लेकर मतदानकर्मी पहुंचे अपने मतदान केन्द्रों पर
गर्मी को देखते हुए मतदानकर्मियों को छाछ, केरी पना, शीतल जल का किया गया भरपूर वितरण

इंदौर। इंदौर जिले में लोकसभा निर्वाचन के लिये 13 मई, सोमवार को मतदान होगा। जिले के सभी 9 विधानसभा क्षेत्रों के 2677 मतदान केन्द्रों के लिये मतदान दलों को इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन सहित अन्य मतदान सामग्री का वितरण नेहरू स्टेडियम से किया गया। मतदान दलों को सामग्री वितरण की प्रक्रिया सुबह 6 बजे शुरू हुई। मतदान दलों को लेकर पहली बस सुबह 9.30 बजे रवाना हुई और 11.30 बजे तक सभी मतदान दल अपने-अपने मतदान केन्द्रों की ओर रवाना हो गए।  इस दौरान संभागायुक्त श्री दीपक सिंह और कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री आशीष सिंह भी स्टेडियम में मौजूद थे। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा नियुक्त प्रेक्षक ने भी मतदान सामग्री वितरण व्यवस्था का जायजा लिया।

मतदानकर्मियों को नहीं भटकना पड़ा इधर-उधर

इसके अलावा प्रत्येक सेक्टर अधिकारी के साथ एक सेक्टर मेडिकल अधिकारी भी भेजा गया। मतदान दलों को आज उत्साह पूर्ण वातावरण में मतदान सामग्री का वितरण पूर्ण सुविधाजनक रूप से सहजता के साथ किया गया। मतदान दलों को टेबल-कुर्सियों पर बैठाकर मतदान सामग्री उपलब्ध करायी गई। मतदान सामग्री प्राप्त करने के लिये मतदान दलों को इधर-उधर नहीं भटकना पड़ा और न ही लाईन में लगना पड़ा। सुबह 6 बजे मतदान दल के सदस्य स्टेडियम पहुंचे। अपने निर्धारित मतदान केन्द्र की टेबल-कुर्सियों पर बैंठे। इन्हीं टेबलों पर नगर निगम के कर्मचारियों द्वारा इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन और अन्य मतदान सामग्री लाकर दी गई। इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन के परिवहन के लिये बेट्री चलित वाहनों की व्यवस्था की गई थी। सभी दलों ने मतदान सामग्री प्राप्त करने की औपचारिकताएं पूरी की। पहला मतदान दल सुबह 9.30 बजे  रवाना हुआ। इसके पश्चात धीरे-धीरे सभी मतदान दल अपने-अपने मतदान केन्द्रों के लिये रवाना हुए।

25 हजार छाछ के पैकेट और 5 हजार लीटर केरी पने का वितरण

गर्मी को देखते हुए स्टेडियम में अनेक विशेष व्यवस्थाएं की गई थी। मतदानकर्मियों को सत्कार के रूप में छाछ और केरी पना का भरपूर वितरण किया गया। बताया गया कि लगभग 25 हजार छाछ के पैकेट और 5 हजार लीटर के आसपास केरी पने का वितरण हुआ। मतदानकर्मियों ने इस सुविधा का पूरा लाभ लिया और अपने आप को गर्मी के दुष्प्रभावों से बचाया।  सामग्री वितरण स्थल पर स्वच्छ और शीतल पेयजल की भी पर्याप्त व्यवस्था रखी गई थी। सफाई के लिये पर्याप्त कर्मचारी पूरे समय मौजूद रहे। कचरा होते ही उसे तुरंत हटाया गया।

*प्याज भी बना आकर्षण का केन्द्र*

लू के दुष्प्रभाव से बचाव के लिए परम्परागत रूप से प्याज का इस्तेमाल किया जाता है। प्राय: लोग लू से बचाव के लिए अपने साथ प्याज रखते हैं। इसको देखते हुए मतदान सामग्री वितरण स्थल पर बड़ी मात्रा में प्याज रखवाया गया था। मतदानकर्मियों ने स्वैच्छा से यह प्याज प्राप्त कर अपने साथ रखे। इस व्यवस्था की भी मतदानकर्मियों ने सराहना की।    

व्यवस्थाओं से अभिभूत रहे मतदानकर्मी

कलेक्टर श्री आशीष सिंह के मार्गदर्शन में नगर निगम के आयुक्त श्री शिवम वर्मा और अपर आयुक्त श्री अभिलाष मिश्रा के निर्देशन में की गई व्यवस्थाओं से मतदानकर्मी बेहद अभिभूत और उत्साहित दिखायी दिये। उन्होंने कहा कि गर्मी को देखते हुए हमने जो चिंता रखी थी, वह निरर्थक साबित हुई। सामग्री वितरण स्थल पर पहुंचकर एक अलग ही अनुभव महसूस हुआ। पहुंचते ही हमें ठण्डी छाछ, केरी का पना और लगातार पीने के लिए ठण्डा पानी मिलता रहा। गर्मी का एहसास नहीं हो, इसके लिए हमें कूलर और पंखे की ठण्डी हवाएं भी लगातार मिलती रही। हमें टेबल पर बैठकर सामग्री और ईवीएम मिल गई। हमें बिल्कुल भी परेशानी नहीं हुई। कतार में भी नहीं लगना पड़ा और न ही इधर-उधर भटकना पड़ा। सामग्री वितरण स्थल पर बड़ी संख्या में प्याज रखे देखकर हमें एक अलग अनुभूति हुई। यह प्याज लू से बचाव के लिए हमने स्वैच्छा से लिए और अपने साथ रखे। यह कहना है मतदान सामग्री प्राप्त करने वाली प्रियंका यादव, अर्चना बघेल, सुनील सोलंकी, ओमप्रकाश शर्मा आदि मतदान कर्मियों और सेक्टर अधिकारियों श्री गोपेश पाठक, श्री पी.एस. मण्डलोई, श्री सुनील ढाका सहित अन्य अधिकारियों का।

ट्राली और ई-रिक्शा की व्यवस्थाएं भी रही मददगार

सामग्री वितरण स्थल नेहरू स्टेडियम में मतदानकर्मियों की सुविधा के लिए पहली बार ट्राली और ई-रिक्शा की व्यवस्थाएं की गई। यह व्यवस्थाएं मतदानकर्मियों के लिए बेहद मददगार साबित हुई। मतदानकर्मियों ने मतदान सामग्री और ईवीएम प्राप्त की। वहीं उनके सामने ट्राली रखी हुई थी। उस ट्राली में उन्होंने ईवीएम सहित अन्य मतदान सामग्री सुरक्षित रूप से रखकर बेहद आसानी के साथ निर्धारित बस तक पहुंचे। इसी तरह मतदान कर्मियों को सामग्री लेकर चलने में असुविधा न हो, इसको देखते हुए ई-रिक्शा की व्यवस्थाएं की गई थी। इस वाहन में मतदानकर्मी बैठकर अपनी बसों तक पहुंचे। इस व्यवस्था की भी मतदानकर्मियों ने सराहना की।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow