Dec 02 2021 / 12:31 AM

विराट कोहली को वनडे और टेस्ट कप्तान बने रहना चाहिए: सहवाग

Spread the love

नई दिल्ली। पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग का मानना है कि विराट कोहली को टेस्ट और वनडे की कप्तानी नहीं छोड़नी चाहिए। पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज का यह बयान ऐसे समय पर सामने आया है, जब 33 वर्षीय भारतीय कप्तान कोहली ने राष्ट्रीय टी-20 टीम के कप्तान के रूप में सोमवार को अपना आखिरी मैच खेला था। कोहली ने कप्तान के रूप में अपना आखिरी टी-20 दुबई में नामीबिया के खिलाफ खेला। मेन इन ब्लू (भारतीय क्रिकेट टीम) टी-20 विश्व कप के सुपर 12 चरण में ही बाहर हो गई है।

टूर्नामेंट से पहले, कोहली ने घोषणा की थी कि वह विश्व कप खत्म होने के बाद सबसे छोटे प्रारूप में भारतीय कप्तान के तौर पर अब और नहीं खेलेंगे। अगले कुछ दिनों में बीसीसीआई के अधिकारियों और राष्ट्रीय चयनकर्ताओं की बैठक में एकदिवसीय कप्तान के रूप में उनके भविष्य पर चर्चा की जाएगी। सूत्रों की माने तो कोहली के वनडे कप्तानी भी गंवाने की संभावना प्रबल है।

मंगलवार को, एक प्रशंसक के सवाल पर कि क्या कोहली को पूरी तरह से कप्तान के रूप में इस्तीफा दे देना चाहिए, सहवाग ने कहा कि उन्हें एकदिवसीय और टेस्ट में नेतृत्व की भूमिका नहीं छोड़नी चाहिए।

सहवाग ने अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर लिखा, यह विराट का फैसला है, लेकिन मुझे नहीं लगता कि उन्हें बाकी दो फार्मेट की कप्तानी छोड़नी चाहिए। अगर वह सिर्फ एक खिलाड़ी के तौर पर खेलना चाहता है तो यह उसका फैसला है। मुझे लगता है कि भारत उनकी कप्तानी में अच्छा खेल रहा है। बतौर कप्तान उनका रिकॉर्ड शानदार है और यह उनका निजी फैसला है कि वह वनडे और टेस्ट कप्तान बने रहना चाहते हैं या नहीं। मेरे हिसाब से उसे भारत का नेतृत्व करना चाहिए।

सहवाग ने आगे कहा, वह अच्छे खिलाड़ी हैं, आक्रामक कप्तान हैं और आगे से नेतृत्व करते हैं। मैं दोहराता हूं कि वनडे और टेस्ट में कप्तानी छोड़ना या नहीं छोड़ना उनका निजी फैसला होना चाहिए। भारत 17 नवंबर को तीन मैचों की टी-20 श्रृंखला में न्यूजीलैंड से भिड़ेगा, जिसमें एक नया कप्तान होगा और यह संभावना जताई जा रही है कि अब टी-20 की कप्तानी भारतीय सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा को सौंपी जा सकती है।

Chhattisgarh