Sep 21 2021 / 1:51 PM

दुष्कर्म के दोषियों को दया याचिका दायर करने का अधिकार नहीं होना चाहिए: रामनाथ कोविंद

Spread the love

उदयपुर। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने महिला सुरक्षा पर गंभीर चिंता जताते हुए कहा है कि पोक्सो एक्ट के तहत दुष्कर्म के दोषियों को दया याचिका दायर करने का अधिकार नहीं होना चाहिए। कोविंद ने शुक्रवार को यहां देश में महिलाओं के प्रति बढ़ रही दुष्कर्म की घटनाओं पर गहरी चिंता जताते हुए कहा कि पोक्सो एक्ट के तहत दुष्कर्म के दोषियों को दया याचिका दायर करने का अधिकार नहीं होना चाहिए और उन्होंने इसकी समीक्षा करने की जरूरत पर बल दिया।

राष्ट्रपति ने ब्रहमाकुमारी संस्था की तरफ से महिला सशक्तीकरण पर आयोजित दो दिवसीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि महिलाओं की सुरक्षा की जिम्मेदारी पूरे समाज की है। गौरतलब है कि कोविंद का यह बयान ऐसे समय आया है जब हैदराबाद में एक पशु चिकित्सक की दुष्कर्म के बाद जला कर मार डालने और उन्नाव में बलात्कार पीडि़ता को दिन दिहाड़े जलाने की घटना से देश में रोष का माहौल बना हुआ है।

Chhattisgarh