Dec 01 2021 / 11:21 PM

यूपी एटीएस ने मौलाना उमर गौतम के बेटे अब्दुल्ला को किया गिरफ्तार

Spread the love

नई दिल्ली। धर्मांतरण का रैकेट चालकर विदेशों से धनार्जन करने वाले मौलाना उमर गौतम के बाद अब उसके बेटे अब्दुल्ला पर शिकंजा कसा गया है। खबर है कि मौलाना के बेटे अब्दुल्ला को गोतमबुद्धनगर से धर्मांतरण जैसे गतिविधियों में संलिप्त होने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है और उसके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई करने हेतु संजीदा धाराओं में केस भी दर्ज कर लिया गया है। कथित पर उसे हिरासत में लेकर उससे पूछताछ का सिलसिला लंबा चलेगा और इस प्रकरण से संबंधित कई मसलों के बारे में इनसे जानकारी जुटाई जाएगी।

बता दें कि इस मामले में अब तक 17 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है, जिसमें खुद मौलाना उमर गौतम , उसका बेटा अब्दुल्ला, कलीम सिद्दीकी, रामेश्वरम कावड़े उर्फ आदम उर्फ एडम, भूप्रिय बन्दों उर्फ अर्सलान मुस्तफा, कौशर आलम, हाफिज इदरीस शामिल हैं।

यूपी पुलिस की तरफ से की गई अब तक की जांच में इस पूरे मामले में 57 करोड़ रूपए हवाला के जरिए विदेश से प्राप्त करने की बात सामने आ चुकी है। यूपी एटीएस ने अपने बयान में कहा कि धर्मांतरण में उमर गौतम का बेटा अब्दुल्ला भी शामिल था। वो धर्मांतरण से जुड़े लोगों को पैसे बांटता था। एटीएस को अब्दुल्ला के बैंक से 70 लाख रूपए मिले हैं, जिसमें से 17 लाख रूपए विदेश से आए हैं।

बहरहाल, पुलिस अभी इस पूरे मामले की जांच कर यह पता लगाने की कोशिश में लगी हुई है कि आखिर अब तक इसमें से कितने पैसों का इस्तेमाल धर्मांतरण के लिए किया जा चुका है और इससे भी अहम बात यह है कि आखिर इस पूरे रैकेट में और कितने लोग शामिल है। यह तो अब एटीएस की जांच मुकम्मल होने के बाद ही पता लग पाएगा, लेकिन मौलाना उमर गौतम के बारे में बताया गया था कि इस शख्स ने लाखों लोगों का धर्मांतरण कराया है।

अमूमन, यह लोग धर्मांतरण के लिए आर्थिक रूप से कमजोर तबके के लोगों को चिन्हित करते हैं और आहिस्ता-आहिस्ता उन्हें लुभाकर उनका धर्मांतरण कराते हैं। इसके अलावा एटीएस विदेशों में बैठे लोगों को भी चिन्हित करने का प्रयास कर रही है, जो हमारे देश में बैठे मौलानाओं के सहारे में भारत में धर्मांतरण का रैकेट चला रहे हैं।

Chhattisgarh