जबतक 370 की बहाली नहीं होती, चुनाव नहीं लड़ूंगी: महबूबा मुफ्ती

नई दिल्ली। एक साल से ज्यादा पुलिस हिरासत में रहने के बाद रिहा हुई जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने एक पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला बोला है। महबूबा ने कहा कि पीएम मोदी को आज बिहार में चुनावी सभा में वोट मांगने के लिए आर्टिकल 370 का सहारा लेना पड़ा है। जब वे चीजों पर विफल होते हैं तो वे कश्मीर और 370 जैसे मुद्दों को उठाते हैं। वास्तविक मुद्दे पर बात नहीं करना चाहते हैं।

महबूबा मुफ्ती ने कहा कि जब तक वह (केंद्र सरकार) हमारे हक (370) को वापस नहीं करते हैं, तब तक मुझे कोई भी चुनाव लड़ने में दिलचस्पी नहीं है। पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने जम्मू-कश्मीर में 370 को बहाल करने तक मेरा संघर्ष खत्म नहीं होगा। मेरा संघर्ष कश्मीर समस्या के समाधान के लिए होगा। महबूबा ने कहा कि बीजेपी ने बाबरी मस्जिद के आसपास ऐसा माहौल बनाया मानों वह कभी मौजूद ही न हो।

महबूबा मुफ्ती ने कहा कि चीन ने लद्दाख में 1000 वर्ग किमी से अधिक जमीन पर कब्जा कर लिया। चीन ने 370 को हटाने और भारत द्वारा किए गए परिवर्तनों पर खुलकर आपत्ति जताई है। वे इस बात से कभी इनकार नहीं कर सकते कि जम्मू-कश्मीर कभी भी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इतना प्रसिद्ध नहीं था, जितना अब है।

गौरतलब है कि महबूबा मुफ्ती को अनुच्छेद 370 हटाए जाने से पहले पुलिस ने हिरासत में ले लिया था। महबूबा मुफ्ती को 434 दिन बाद रिहा किया गया है। इसके बाद महबूबा मुफ्ती ने 370 की फिर से बहाली के लिए मुहिम शुरू की है। इस मुहिम में जम्मू-कश्मीर के सभी राजनीतिक दल एक साथ आ गए हैं।

बता दें कि पीएम मोदी सरकार ने करीब सवा साल पहले जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 को खत्म कर दिया था, जिसके बाद महबूबा मुफ्ती को हिरासत में लेकर नजरबंद कर गया। अब कश्मीरी पार्टी संयुक्त होकर 370 की बहाली मांग कर रही हैं।

Share With

Chhattisgarh