विधिक सेवाओं तथा शासन की जनकल्याणकारी विभागीय योजनाओं की सुविधा हितग्राहियों तक पहुंचाने विशेष ई-मेगा कैम्प 31 अक्टूबर को

कोरिया। वर्तमान में कोविड-19 के संक्रमण एवं खतरे के कारण जहां दिन-प्रतिदिन के कार्य प्रभावित हुए हैं, ऐसी स्थिति में लोगों के मध्य पहुंचकर विधिक जागरूकता का कार्य करना सुरक्षित नहीं है, इसलिए छत्तीसगढ़ राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के द्वारा आगामी 31 अक्टूबर को पूरे राज्य सहित कोरिया जिले में भी ई-मेगा कैम्प आयोजित किया जाएगा।

ई-मेगा कैम्प के माध्यम से जिलेभर के विधिक सेवाओं तथा शासन की जनकल्याणकारी विभागीय योजनाओं से संबंधित आवेदनों का निराकरण किया जाएगा। ई-मेगा कैम्प के सफल आयोजन हेतु जिला एवं सत्र न्यायाधीश की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में जिले में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के द्वारा सीईओ जिला पंचायत श्रीमती तूलिका प्रजापति को नोडल अधिकारी बनाया गया है। ई-मेगा कैम्प में शिक्षा, महिला एवं बाल विकास, श्रम, समाज कल्याण विभाग, कौशल विकास, स्वास्थ्य विभाग, अनुसूचित जनजाति विभाग से संबंधित तथा अन्य विधिक सेवाओं के प्रकरण को लेते हुए उनका निराकरण किया जायेगा।

कलेक्टर श्री एसएन राठौर ने जिले में ई-मेगा कैम्प के सफल आयोजन के लिए आवश्यक तैयारी करने के निर्देश विभिन्न विभागों के अधिकारियों को दिये हैं। कलेक्टर श्री राठौर ने विधिक सेवाओं से जुड़े प्रकरणों की सूची तैयार करने के निर्देश दिए हैं, जिससे ज्यादा से ज्यादा हितग्राहियों को लाभान्वित किया जा सके। उन्होंने इस शिविर को सफल बनाने के लिए इसका व्यापक प्रचार-प्रसार कर लोगों को जागरूक करने भी कहा है।

इस कैम्प का उद्घाटन हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश श्री पी.आर.रामचन्द्र मेनन तथा न्यायाधीश और कार्यपालिक अध्यक्ष, राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण श्री प्रशांत कुमार मिश्रा द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए किया जाएगा। इसका सीधा प्रसारण जिला विधिक प्राधिकरण के यू-ट्यूब चैनल और फेसबुक में होगा। कैम्प में शासन द्वारा संचालित योजनाओं के अतंर्गत हितग्राहियों की पहचान कर उक्त तिथि को संबंधित योजना के अनुरुप सहायता प्रदान किए जायेगी। साथ ही सभी विभागों की संक्षिप्त जानकारी एवं प्रक्रिया भी आमजन को प्रदान की जाएगी।

Share With

Chhattisgarh