Sep 17 2021 / 5:45 AM

कल है नाग पंचमी, जानिए शुभ मुहूर्त, पूजा विधि

Spread the love

नाग पंचमी का पर्व कल है। इस दिन मुख्य रूप से सांप या फिर नाग की देवता भांति पूजा-अर्चना की जाती है। नाग पंचमी के मौके पर लोग दिन भर व्रत रखते हैं और सांपों की पूजा करते हैं और उन्हें दूध पिलाते हैं। नाग पंचमी का व्रत बेहद फलदायी और शुभ माना जाता है। हिंदू कैलेंडर के मुताबिक नाग पंचमी का त्योहार सावन (श्रावण) महीने के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को मनाया जाता है। इस साल नाग पंचमी का त्योहार 13 अगस्त 2021 यानी कल मनाया जाएगा।

नाग पंचमी का शुभ मुहूर्त

नाग पंचमी तिथि प्रारम्भ- 12 अगस्त दोपहर 3 बजकर 24 मिनट से
नाग पंचमी समाप्त- 13 अगस्त दोपहर 1 बजकर 42 मिनट तक

नाग पंचमी की पूजा विधि

कई घरों में दीवार पर गेरू पोतकर पूजन का स्थान बनाया जाता हैफिर उस दिवार पर कच्चे दूध में कोयला घिसकर उससे एक घर की आकृति बनाई जाती है और उसके अन्दर नागों की आकृति बनाकर उनकी पूजा की जाती है । साथ ही कुछ लोग घर के मुख्य दरवाजे के दोनों तरफ हल्दी से, चंदन की स्याही से अथवा गोबर से नाग की आकृति बनाकर उनकी पूजा करते हैं।

नागपंचमी का ये त्योहार सर्प दंश के भय से मुक्ति पाने के लिये और कालसर्प दोष से छुटकारा पाने के लिये मनाया जाता है। लिहाजा अगर आपको भी इस तरह का कोई भय है या आपकी कुंडली में कालसर्प दोष है तो उससे छुटकारा पाने के लिये आज आपको इन आठ नागों की पूजा करनी चाहिए- वासुकि, तक्षक, कालिय, मणिभद्र, ऐरावत, धृतराष्ट्र, कर्कोटक और धनंजय।

Chhattisgarh