Sep 20 2021 / 4:50 AM

सिद्धू की कांग्रेस हाईकमान को धमकी, अधिकार न मिले तो ईंट से ईंट बजा दूंगा

Spread the love

नई दिल्ली। पंजाब कांग्रेस में तनाव का दौर चल ही रहा था कि अब प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने कुछ ऐसा बयान दे दिया है जो इस तनाव को और बढ़ा सकता है। बता दें कि सिद्धू सख्त तेवर दिखाते हुए कहा है कि अगर उन्हें निर्णय लेने से रोका गया तो वो ईंट से ईंट बजा देंगे। पंजाब कांग्रेस अध्‍यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने शुक्रवार को कहा है कि अगर आप मुझ फैसले लेने सो रोकते हो तो मैं किसी को छोडूंगा नहीं (ईंट से ईंट बजा दूंगा)।

सिद्धू ने अपना यह बयान बिना किसी का नाम लिए दिया है। हालांकि माना जा रहा है इस बयान के जरिए उन्होंने पार्टी आलाकमान को आगाह किया है। उन्होंने कहा कि, मैं आलाकमान को बोल कर आया हूं कि मुझे फैसले लेने की छूट नहीं दी गई तो मैं ईंट से ईंट बजा दूंगा। उन्होंने कहा कि, वे पंजाब की जनता की आस पर अगर खरे उतरते हैं तो आने वाले 20 सालों तक राजनीति में कांग्रेस का ग्राफ नीचे नहीं आने दूंगा।

कार्यक्रम के दौरान सिद्धू ने यह भी कहा कि राजनीति गंदी हो गई मैली हो गई धंधा बन गया है। गौरतलब है कि सिद्धू का बयान ऐसे समय में आया, जब सोशल मीडिया पर कश्मीर को लेकर एक पोस्‍ट के चलते विवादों में आए उनके सलाहकार मलविंदर सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

वहीं जम्मू-कश्मीर को विवादित फेसबुक पोस्ट में अलग देश बताने वाले मलविंदर सिंह माली को पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार पद से इस्तीफा देना पड़ा है। माली ने पोस्ट में लिखा था कि जम्मू-कश्मीर अलग देश है और भारत व पाकिस्तान ने उस पर कब्जा कर रखा है।

माली के इस फेसबुक पोस्ट पर कांग्रेस में ही सवाल उठे थे। पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह और पंजाब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनीष तिवारी ने माली को पार्टी से बाहर करने के लिए कहा था। असंतोष बढ़ते और बीजेपी के निशाने पर कांग्रेस को आते देखकर पार्टी के पंजाब प्रभारी हरीश रावत ने सिद्धू से माली को हटाने के लिए कहा था।

मलविंदर माली ने विवादित फेसबुक पोस्ट 15 अगस्त को किया था। इस पोस्ट पर मनीष तिवारी ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि ऐसे लोगों को कांग्रेस तो छोड़ो, देश में रहने का हक नहीं है। वहीं कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा था कि माली जैसे लोगों का ये पोस्ट देश के दुश्मनों की मदद करने वाला है। कैप्टन ने भी माली को हटाने की नसीहत नवजोत सिंह सिद्धू को दी थी। कैप्टन को सिद्धू के साथ जारी टकराव में उनपर हमला करने का बड़ा मुद्दा माली ने दे दिया था।

Chhattisgarh