Nov 28 2021 / 4:29 PM

दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को लेकर 7 दिन स्कूल और सरकारी ऑफिस बंद

Spread the love

नई दिल्ली। दिल्ली में बढ़ते वायु प्रदूषण से निपटने के लिए बुलाई गई इमरजेंसी बैठक में कई बड़े फैसले लिए गए, जिनमें तीन दिनों के लिए कंस्ट्रक्शन के काम पर रोक लगाना, एक सप्ताह के लिए स्कूलों को बंद करना और एक हफ्ते के लिए सरकारी अधिकारियों को वर्क फ्रॉम होम देना शामिल है। बैठक के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मीडिया से बात करते हुए यह जानकारी दी।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में 14 से 17 नवंबर तक निर्माण गतिविधियों पर रोक रहेगी। खराब होती वायु गुणवत्ता के मद्देनजर दिल्ली में सोमवार से एक सप्ताह के लिए स्कूल बंद रहेंगे। सीएम केजरीवाल ने आगे कहा कि सरकारी अधिकारी एक हफ्ते तक घर से काम करेंगे, निजी कार्यालयों को भी इसका पालन करने की सलाह दी गई है।

बता दें कि दिल्ली और आस पास के क्षेत्रों में वायु प्रदूषण को लेकर तत्काल कदम उठाने के सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद दिल्ली सरकार ने इमरजेंसी मीटिंग कर यह फैसले लिए गए। मीटिंग में सीएम अरविंद केजरीवाल और डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के साथ-साथ स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन, पर्यावरण मंत्री गोपाल राय और दिल्ली के मुख्य सचिव भी मौजूद रहे।

सुप्रीम कोर्ट ने शनिवार को दिल्ली-एनसीआर में गंभीर वायु प्रदूषण पर गंभीरता से विचार किया और सुझाव दिया कि यदि आवश्यक हो, तो सरकार पराली जलाने, वाहनों, पटाखों, उद्योग और धूल के कारण बढ़े वायु प्रदूषण के स्तर को नीचे लाने के लिए दो दिनों के लॉकडाउन की घोषणा कर सकती है। मुख्य न्यायाधीश ने कहा कि किसानों द्वारा पराली जलाए जाने से केवल 25 प्रतिशत प्रदूषण होता है और शेष 75 प्रतिशत प्रदूषण पटाखा जलाने, वाहनों के प्रदूषण, धूल आदि से होता है।

Chhattisgarh