Sep 20 2021 / 5:03 AM

रवि दहिया ने जीता सिल्वर, पीएम मोदी ने दी बधाई

Spread the love

नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक के कुश्ती के फाइनल मुकाबले में रवि दहिया हार गए हैं। वो गोल्ड से चूक गए हैं। अब उनका रजत पदक पक्का हो गया है। पुरुषों की 57 किलोग्राम फ्रीस्टाइल कुश्ती में रवि कुमार दहिया फाइनल में रूस के पहलवान जवुर यूगेव से हार गए हैं।

दरअसल भारत के लिए पहलवान रवि कुमार दहिया ने 57 किलोग्राम भार वर्ग में कजाकिस्तान के नुरिस्लाम सनायेव को हराकर फाइनल में प्रवेश कर लिया था। इसके साथ ही भारत के लिए पहला सिल्वर मैडल पक्का हो गया है। भारत के लिए टोक्यो ओलंपिक के मंच से यह बड़ी उपलब्धि है। इसके साथ ही भारत के नाम टोक्यो ओलंपिक में चौथा मेडल पक्का हो गया है।

इससे पहले आज भारतीय बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन को सेमीफाइनल मुकाबले में तुर्की की मुक्केबाज बुसेनाज सुरमेनेली से हार का सामना करना पड़ा था। इसके साथ ही भारत को इस मुकाबले में कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा था। लेकिन कुश्ती में रवि कुमार दहिया ने इतिहास रच दिया।

पीएम मोदी ने रवि दहिया को सिल्वर मेडल जीतने की बधाई दी है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा- ‘रवि कुमार दहिया एक शानदार पहलवान हैं। उनकी लड़ाई की भावना और तप उत्कृष्ट है। टोक्यो में रजत पदक जीतने के लिए उन्हें बधाई। भारत को उनकी उपलब्धियों पर बहुत गर्व है।’

उन्होंने कजाकिस्तान के पहलवान को पटखनी देकर फाइनल में अपनी जगह तो पक्की की हीं साथ ही भारत को गोल्ड मैडल के एक कदम और करीब ले गए। इससे पहले रवि कुमार दहिया ने क्वार्टर फाइनल में बुल्गारिया के जॉर्डी वैंगेलोव को 14-4 से हराकर सेमीफाइनल में पहुंचे थे।

रवि के जन्म की बात करें तो वो हरियाणा के सोनीपत के नाहरी गांव में हुआ था। वो अपनी कड़ी मेहनत के बल पर इस मुकाम पहुंचे हैं। इतना ही नहीं उनके परिवार ने भी कई कुर्बानियां दी हैं। उन्होंने साल 2015 में जूनियर वर्ल्ड चैम्पियनशिप में सिल्वर मेडल जीता है। इसके बाद उन्होंने साल 2018 में अंडर 23 वर्ल्ड चैम्पियनशिप में सिल्वर मेडल जीता था। साल 2020 में उन्होंने एशियाई कुश्ती चैम्पियनशिप में गोल्ड मेडल अपने नाम किया।

Chhattisgarh