Sep 20 2021 / 10:24 PM

नागरिकता कानून के खिलाफ देशभर में विरोध प्रदर्शन, दिल्ली में 18 मेट्रो स्टेशन बंद, बिहार में रोकी ट्रेनें

Spread the love

नई दिल्ली। नागरिकता कानून के खिलाफ दिल्ली के कई इलाकों में प्रदर्शन को देखते हुए गुरूवार को कईं मेट्रो स्टेशन बंद किए गए हैं। विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर दिल्ली में लाल किले के पास धारा 144 लागू की गयी। कुछ इलाकों में मोबाइल सेवाएं भी घंटों तक पूरी तरह बंद रहीं। वहीं बिहार के राजेंद्र नगर रेलवे स्टेशन पर ‘ऑल इंडिया स्टूडेंट फेडरेशन’ के सदस्यों ने नागरिकता कानून और एनआरसी के विरोध में ट्रेन रोक दी।

मेट्रो प्रशासन ने दिल्ली पुलिस के परामर्श के बाद एहतियात के तौर पर इन स्टेशनों को बंद किया है। नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर देशभर के कई स्थानों पर विरोध प्रदर्शन जारी है। दिल्ली में प्रदर्शन के दौरान योगेंद्र यादव, उमर खालिद, संदीप दीक्षित, सीताराम येचुरी सहित सैकड़ों की संख्या में अन्य लोगों को हिरासत में लिया गया है। वहीं बंगलूरू में इतिहासकार रामचंद्र गुहा को भी हिरासत में लिया गया है। दिल्ली में 18 मेट्रो स्टेशनों को ऐतिहातन बंद कर दिया गया है।

जामिया नगर इलाके के जामिया मिल्लिया इस्लामिया मेट्रो स्टेशन के अलावा ओखला विहार, जशोला विहार मेट्रो स्टेशन को बंद किया गया है। मुनिरका के अलावा वसंत विहार मेट्रो स्टेशन भी बंद है। विरोध प्रदर्शन को देखते हुए लालकिले के आसपास निषेधाज्ञा लगाई गई है।

लोगों के प्रदर्शन की आशंका को देखते हुए लाल किला, जामा मस्जिद, चांदनी चौक ,विश्वविद्यालय, पटेल चौक, लोक कल्याण मार्ग, उद्योग भवन, आईटीओ, प्रगति मैदान, केन्द्रीय सचिवालय और खान मार्किट मेट्रो स्टेशन बंद कर दिये गये है।

सपा का राज्यव्यापी प्रदर्शन
कड़े सुरक्षा इंतजाम और निषेधाज्ञा लागू होने के बीच नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में उत्तर प्रदेश में मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी (सपा) ने गुरूवार को राज्यव्यापी प्रदर्शन किया। लखनऊ में सुबह साढ़े नौ बजे सपा विधायकों ने विधानभवन परिसर में चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा के निकट प्रदर्शन किया। वे सीएए के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे।

इनमे से कुछ विधायक मीडिया का ध्यान आकर्षित करने के लिये विधानभवन के मुख्य द्वार पर चढ़ गये। नेता प्रतिपक्ष और सपा सदस्य रामगोविंद चौधरी ने कहा कि संवैधानिक मूल्यों को दरकिनार कर लाया गया सीएए सरकार की हिटलरशाही रवैये का परिचायक है और उसके निशाने पर खास समुदाय के लोग है।

राज्य के विभिन्न हिस्सों से सपा समर्थकों द्वारा सड़क और रेलमार्ग जाम कर विरोध प्रदर्शन करने की सूचना है। देवरिया से प्राप्त सूचना के अनुसार शहर में सपा कार्यकर्ताओं ने संविधान बचाओ देश बचाओ के नारे लगाते हुये प्रदर्शन किया। कलेक्ट्रेट गेट पर सुरक्षा बलों ने उन्हे हिरासत में लेकर पुलिस लाइन भेज दिया। गिरफ्तार कार्यकर्ताओं की तादाद करीब 30 बतायी गयी है। जिलाधिकारी अमित किशोर और पुलिस अधीक्षक श्रीपति मिश्र पैदल गश्त करते नजर आये।

लखनऊ में भारी तादाद में पुलिस बल की तैनाती की गयी है। मुख्य मार्गो पर बैरीकेडिंग लगायी गयी है जिसके चलते कई स्थानों पर लोगों को जाम जैसे हालात का सामना करना पडा। इस बीच पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने जनता से किसी तरह के धरना प्रदर्शन में भाग नहीं लेने की अपील की है।

उन्होने कहा कि पूरे राज्य में धारा 144 लागू है और गुरूवार एवं शुक्रवार को किसी तरह के धरना प्रदर्शन की अनुमति नहीं है। उन्होने अभिभावकों से अपील की कि वे अपने बच्चों को किसी आंदोलन में भाग लेने की इजाजत नहीं दे। शरारती तत्वों के खिलाफ कडी कार्रवाई नही करने से पुलिस नही हिचकिचायेगी।

Chhattisgarh