Sep 29 2021 / 12:43 AM

स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर बोले राष्ट्रपति- अपनी बेटियों को आगे बढ़ने के अवसर प्रदान करें माता-पिता

Spread the love

नई दिल्ली। देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 15 अगस्त यानी स्वतंत्रता दिवस की तैयारी पूरी कर ली गई है। स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ‘राष्ट्र के नाम संदेश’ जारी किया है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को देशवासियों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि इस वर्ष के स्वाधीनता दिवस का विशेष महत्व है।

कई पीढ़ियों के ज्ञात और अज्ञात स्वतंत्रता सेनानियों के संघर्ष से हमारी आजादी का सपना साकार हुआ था। उन सभी ने त्याग व बलिदान के अनूठे उदाहरण प्रस्तुत किए। मैं उन सभी अमर सेनानियों की पावन स्मृति को श्रद्धापूर्वक नमन करता हूं। हमारे देश को विदेशी हुकूमतों में काफी उत्पीड़न और अत्याचार सहना पड़ा था। महात्मा गांधी हमें सिखाया है कि हमें सही दिशा में कदम बढ़ाना चाहिए।

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि टोक्यो ओलंपिक में हमारे देश के खिलाड़ियों ने देश का गौरव बढ़ाया है। खेलकूद के साथ-साथ हर क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी बढ़ी है। हमारे देश की बेटियां हर क्षेत्र में अलग पहचान बढ़ा रही हैं। सभी माता-पिता को भी अपनी बेटियों को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करना चाहिए। देश में अभी कोरोना वायरस का असर समाप्त नहीं हुआ है। पिछले वर्ष हम सभी के प्रयासों से कोरोना पर काबू पाने में सफल हुए थे।

राष्ट्रपति ने कहा कि हमारे वैज्ञानिकों ने बहुत कम समय में कोरोना वैक्सीन बना ली। दूसरी लहर में कई लोगों को जान गंवाई पड़ी। हम ऐसे परिवारों के साथ खड़े हैं। हालांकि, हमें इस बात संतोष है कि हमने जितनी लोगों की जानें गंवाई हैं, उससे ज्यादा लोगों की जिंदगी भी बचाई है। कोरोना की दूसरी लहर पर काबू पाया जा रहा है। काफी प्रयासों के बाद देश की हालात सामान्य हो गई है, लेकिन अभी भी हमें सावधानी बरतनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि कोरोना काल में सरकार ने करोड़ों रुपये का राशन और राहत पैकेज बांटा है। देश में लोगों को फ्री राशन दिवाली तक मिलेगा। अब शहर और ग्रामीण की दूरी कम हो गई है। भारत गांव में ही बसता है। प्रधानमंत्री सम्मान निधि समेत कई कल्याणकारी योजनाओं पर बल दिया जा रहा है। हमारी अर्थव्यवस्था में निहित रक्षा, सुरक्षा समेत कई क्षेत्रों में निवेश बढ़ाया गया है।

राष्ट्रपति ने कहा कि लोगों के खुद का घर होने का सपना साकार हो रहा है। अब जम्मू-कश्मीर में नवजागरण दिखाई दे रहा है। कोरोना से प्रभावित उद्योगों को राहत पैकेज दिया गया। हमने देश में दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान चलाया है। आधुनिक युग में भारत ने सभी लोगों को मतदान का अधिकार दिया है। संसद हमारे लोकतंत्र का मंदिर है। हमारे लोकतंत्र का मंदिर जल्दी ही एक भवन में परिवर्तित हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि अनेकता से एकता के भाव में हमें देश को आगे बढ़ाना चाहिए। जलवायु परिवर्तन की समस्या हमारे जीवन को प्रभावित कर रहा है। मानव को अपने जीवन में बदलाव लाने की आवश्यकता है। राष्ट्रपति ने कहा कि कोरोना काल में हमारे योद्धाओं ने निस्वार्थ भाव से सेवा की है। इस कोरोना काल में कई योद्धाओं को भी अपनी जान गंवानी पड़ी थी। राष्ट्रपति ने कहा कि राष्ट्रहित की भावनाओं के साथ लोगों को देश को आगे ले जाना चाहिए। देशवासियों को स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर बहुत-बहुत बधाई।

Chhattisgarh