Sep 22 2021 / 1:47 PM

नागरिकता बिल के विरोध पर पीएम मोदी का ट्वीट- असम के लोगों से की शांति की अपील

Spread the love

नई दिल्‍ली। पूर्वोत्तर राज्य असम में नागिकता संशोधन बिल को लेकर हालात और भी बिगड़ते जा रहे हैं। हिंसक प्रदर्शनों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने असम के लोगों से शांति की अपील की है। पीएम मोदी ने कहा कि नागरिकता संशोधन बिल से असम के अधिकार को छीनने की कोशिश नहीं की जा रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर लिखा, ‘मैं असम के अपने भाइयों और बहनों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि नागरिकता संशोधन बिल के पास होने के बाद उन्हें चिंता करने की जरूरत नहीं है। मैं उन्हें आश्वस्त करना चाहता हूं- कोई भी आपके अधिकारों, विशिष्ट पहचान और सुंदर संस्कृति को नहीं छीन सकता है। यह फलता-फूलता और विकसित होता रहेगा।

असम के लोगों से अपील करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘मैं और केंद्र सरकार अनुसूचि 6 की भावना के अनुसार असमिया लोगों के राजनीतिक, भाषाई, सांस्कृतिक और भूमि अधिकारों को संवैधानिक रूप से संरक्षित करने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं।

बता दें कि लोकसभा के बाद बुधवार को राज्यसभा में भी नागरिकता संशोधन बिल पास हो गया। राज्यसभा में लंबी चर्चा के बाद वोटिंग से यह बिल पास हुआ। बिल पास होने के बाद विधेयक बीती रात राज्यसभा में भी पास हो गया। इस बिल को लेकर जहां कुछ लोग इसका विरोध कर रहे हैं तो वहीं कुछ लोग इसका समर्थन कर रहे हैं।

Chhattisgarh