Sep 21 2021 / 10:28 PM

CAA को लेकर पीएम मोदी ने विपक्ष पर साधा निशाना, कहा- लोगों को भ्रमित कर उनकी भावनाएं भड़काने का काम कर रहे हैं

Spread the love

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नागरिकता संशोधन कानून को लेकर विपक्षी दलों पर झूठ को चारित कर लोगों को भ्रमित करने का आरोप लगाया और विपक्षी के नेताओं को चुनौती दी कि यदि उनके किसी काम में भेदभाव नजर आता है तो उसे देश के समक्ष रखें।

मोदी ने रविवार को यहां रामलीला मैदान में एक विशाल रैली को संबोधित करते हुए कि विपक्षी दलों पर तीखा हमला किया और कहा कि उन्हें मोदी से नफरत है इसलिए उनके पुतले जलाएं। उनको निशाना बनाए लेकिन लोगों के घर नहीं जलाएं। उन्होंने विपक्षी दलों पर मुंह छिपाकर हिंसा का खेल खेलने का आरोप लगाया और कहा कि उन्हें समझ लेना चाहिए कि जिनको वे नुकसान पहुंचा रहे हैं वे सब हमारे अपने हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि यह विधेयक लोकसभा और राज्यसभा ने देश की जनता के हित में पारित किया है इसलिए सबको देश के सर्वोच्च सदनों का सम्मान करना चाहिए। लोकतंत्र के संसद का सम्मान सभी को करना चाहिए क्योंकि वहां जो भी विधेयक पारित होते हैं उनको देश के चुने हुए प्रतिनिधि पारित करते हैं।

उन्होंने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून संबंधी विधेयक के पारित होने के बाद कुछ राजनीतिक दल तरह-तरह की अफवाहें फैलाने में लगे हैं। ये लोगों को भ्रमित कर उनकी भावनाएं भड़काने का काम कर रहे हैं। विपक्षी दलों पर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि सरकार ने जब दिल्ली की सैकड़ों कालोनियों को वैघ करने का काम किया तो किसी के धर्म या आस्था या पार्टी के समर्थक होने के बारे में किसी से नहीं पूछा। सभी को और देश के हर नागरिकों को इस कानून का फायदा मिला है।

प्रधानमंत्री ने ममता बनर्जी पर निशाना साधा और कहा कि कुछ साल पहले तक यही ममता दीदी संसद में खड़े होकर इस बात की मांग कर रहीं थीं कि बांग्लादेश से आने वाले घुसपैठियों को रोका जाए और वहां से आए पीड़ित शरणार्थियों की हरसंभव मदद की जाए। उस वक्त वह संसद में स्पीकर के सामने खड़ी होकर कागज फेंकती थी।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ममता दीदी अब आपको क्या हो गया है? आपके वादे और इरादों में अंतर क्यों आ गया है? शरणार्थियों की वकालात करने वाली दीदी अब अफवाह क्यों फैला रही हैं? चुनाव होते रहते हैं, सत्ता आती-जाती रहती है, लेकिन आप किस भय से भयभीत हैं? आपको बंगाल की अवाम पर भरोसा करना चाहिए और उनको अपना दुश्मन नहीं मानना चाहिए।

प्रधानमंत्री ने कहा कि वह देश के साथ लगाव के भाव से जीते हैं और ‘सबका साथ सबका विकास’ के भाव से काम करते हैं। एक ही सत्र में दो विधेयक पारित किए गये जिसमें से एक विधेयक में 40 लाख लोगों को अधिकार दिया गया लेकिन कुछ लोग झूठ फैला रहे हैं कि देश के लोगों के अधिकार छीने जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि सरकार ने गरीबों के लिए जो भी योजना लागू की है उसे बिना भेदभाव के लागू किया जा रहा है। उन्होंने इस संबंध में उज्ज्वला योजना का उदाहरण दिया और कहा कि इस योजना के तहत देश के हर वर्ग और हर जाति के गरीब को फायदा पहुंचा है। इसी तरह से आयुष्मान योजना लागू की गयी और 70 लाख लोगों को इसका फायदा मिल रहा है। उन्होंने सवाल किया कि क्या इन योजनाओं का फायदा पहुंचाने के लिए किसी का धर्म पूछा गया या किसी की जाति पूछी गयी तो फिर किस कारण नागरिकता कानून को लेकर झूठ फैलाया जा रहा है।

Chhattisgarh