Sep 21 2021 / 1:32 PM

अन्न योजना के लाभार्थियों से बोले पीएम मोदी- आज मप्र के शहर स्वच्छता और विकास के नए मॉडल बन रहे हैं

Spread the love

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को मध्य प्रदेश के गरीब कल्याण अन्न योजना के लाभार्थियों से रूबरू हुए। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से आयोजित इस कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कहा, सरकार को इस संकट के समय जहां गरीबों और उनके भोजन की चिंता की। हमने करीब 80 करोड़ लोगों को मुफ्त में राशन दे रहे हैं, वहीं विपक्ष ने गरीबों को इससे दूर रखा है।

पीएम मोदी ने अपना संबोधन शुरू करते हुए कहा, दुर्भाग्य की बात है कि मप्र के कई जिले बारिश और बाढ़ का सामना कर रहे हैं। कई लोगों का जीवन और आजीविका प्रभावित। भारत सरकार और पूरा देश संकट के इस समय में मध्य प्रदेश के साथ खड़ा है।

उन्होंने कहा, सीएम शिवराज और उनकी पूरी टीम मौके पर जाकर राहत व बचाव कार्य कर रही है। एनडीआरएफ हो, केंद्रीय बल हो या वायु सेना, इस स्थिति में मदद के लिए राज्य सरकार को सभी सुविधाएं दी जा रही हैं।

पीएम मोदी ने कहा, भारत ने कोरोना के संकट से निपटने की अपनी रणनीति में गरीबों को पहली प्राथमिकता दी। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना हो या प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना, हमने पहले दिन से ही गरीबों के भोजन और रोजगार के बारे में सोचा।

पीएम मोदी ने कहा, इस अवधि में 80 करोड़ से अधिक नागरिकों को मुफ्त राशन प्रदान किया गया है। सिर्फ गेहूं, चावल या दाल ही नहीं बल्कि 8 करोड़ से अधिक गरीब परिवारों को तालाबंदी के दौरान मुफ्त गैस सिलेंडर भी दिए गए। 20 करोड़ से अधिक महिलाओं को उनके जन धन बैंक खातों में सीधे 30,000 करोड़ रुपये मिले।

विपक्ष पर हमला बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा, आज अगर सरकार की योजनाएं जमीन पर तेज़ी से पहुंच रही हैं, इसके पीछे सरकार के कामकाज में आया परिवर्तन है। पहले की सरकारी व्यवस्था में एक विकृति थी। वो गरीब के बारे में सवाल भी खुद पूछते थे और जवाब भी खुद ही देते थे। जिस तक लाभ पहुंचाना है, उसके बारे में पहले सोचा ही नहीं जाता था।

पीएम मोदी ने कहा, मुझे याद है मप्र में सड़कों का क्या हाल हुआ करता था, बड़े घोटालों के बारे में हम यहां से सुनते थे। आज मप्र के शहर स्वच्छता और विकास के नए मॉडल बना रहे हैं।

Chhattisgarh