Sep 20 2021 / 10:16 PM

हिमाचल इन्वेस्टर्स मीट में बोले पीएम मोदी- उद्योगों में सरकार का हस्तक्षेप विकास को रोकता है

Spread the love

धर्मशाला। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को धर्मशाला में ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट का उद्घाटन किया। अपने संबोधन के दौरान कहा हिमाचल भी अब कमर कस चुका है। मां ज्वालाजी के सानिध्य में आयोजन के लिए बधाई। यहां कण कण में शक्ति व ऊर्जा का वास है। प्रकृति ने भरपूर सहयोग दिया है। इस तरह के आयोजन कुछ राज्यों तक सीमित थे। अब राज्यों में आगे बढ़ने की होड़ है।

मोदी ने कहा अर्थव्यवस्था के सिद्धांत कमजोर नही पड़ने दिए। दुनिया में मंदी लेकिन भारत तेजी से आगे बढ़ रहा है। हमारी नीयत नेक और इरादे मजबूत हैं। मैं मेहमान नहीं हिमाचली ही हूं, आप अपना राज्‍य समझकर निवेश करें। हिमाचल सरकार आपको हर संभव सहयोगी करती रहेगी। नरेंद्र मोदी कई वर्ष तक हिमाचल प्रदेश भाजपा के प्रभारी रहे हैं और उनका प्रदेश से अच्‍छा नाता रहा है।

मोदी ने कहा अब स्थितियां बदल रही हैं। इसकी एक गवाह हिमाचल में हो रही, समिट भी है। पहले राज्यों के बीच निवेशकों को आकर्षित करने के लिए यह होड़ चलती थी कौन सा राज्य ज्यादा चैरिटी करेगा, कौन ज्यादा इन्सेंटिव देगा। कौन जमीन सस्ते में देगा। यह स्पर्धा चलती रहती है। लेकिन अनुभव यह कहता है कि इस स्पर्धा ने वह परिणाम नहीं दिए जो अपेक्षित थे।

उन्होंने कहा तब इन्वेस्टर यह इंतजार करते थे कि कोई राज्य कब क्या छूट देगा, इसलिए निवेशक राज्यों में निवेश रोक देते थे। लेकिन, पिछले कुछ समय में इस स्थिति में परिवर्तन आया है। अब राज्यों को समझ आने लगा है कि ऐसी स्पर्धा न निवेशकों को आकर्षित करती हैं, न ही उद्योगों का भला करती है।

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संदेश में हिमाचल में पर्यटन, औद्योगिक विकास, एयर कॉनेक्टिविटी को बढ़ावा देने पर बल दिया। उन्होंने लिखा- हिमाचल प्रदेश में पर्यटन और खेती को मजबूती देने के साथ तेज औद्योगिक विकास पर भी बल दिया जा रहा है। नेक्स्ट जेनरेशन के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर और एयर, हाइवे, रेलवे कनेक्टिविटी को प्रधानमंत्री ने अपनी प्राथमिकता बताया।

अब प्रदेश के छोटे कारोबारी विदेशों में भी ऑनलाइन पोर्टल अमेजन के माध्यम से सामान बेच सकेंगे। इसके लिए प्रदेश सरकार ने चार समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं। अमेजन बुनकरों और कारीगरों को शिक्षित और प्रशिक्षित करेगा। इसके तहत मनाली, सैंज, रोपा और सेरा जैसे समूहों के हथकरघा उत्पादों को बढ़ाने में मदद करेगी।

हिमाचल सरकार की ओर से कराई जा रही इस दो दिवसीय मीट में देश-विदेश के दर्जनों इन्वेस्टर्स, कई देशों के राजदूत और उद्योगपति पहुंचे। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कार्यक्रम स्थल पहुंचकर विदेशी मेहमानों से मुलाकात की। समिट की ब्रांड एंबेस्डर फिल्मस्टार यामी गौतम भी पहुंचीं।

राज्य सरकार ने एक दिन पहले निवेशकों के साथ 3000 करोड़ के एमओयू साइन किए। इसमें औद्योगिक क्षेत्र में 1500 करोड़, आईटी सेक्टर में 1000 करोड़ और पर्यटन क्षेत्र में 475 करोड़ रुपए है। इससे प्रदेश में करीब 2000 से अधिक युवाओं के लिए रोजगार के अवसर बनेंगे।

Chhattisgarh