Sep 22 2021 / 1:54 PM

वाराणसी में पीएम मोदी ने किया रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर का उद्घाटन, कहा- जापान हमारे विश्‍वसनीय दोस्‍तों में से एक

Spread the love

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के दौरे पर पहुंचे हैं। इस यात्रा के दौरान पीएम मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र को 1500 करोड़ से भी अधिक की सौगात दी है। उन्होंने यहां आज कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया है।

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में आयोजित मुख्य कार्यक्रम में पीएम मोदी ने इन सभी परियोजनाओं की शुरुआत की है। इस मौके पर यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद रहे।

इस दौरान उन्होंने भारत और जापान की दोस्‍ती के प्रतीक रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर का उद्घाटन किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा की जापान के सहयोग से यह कन्‍वेंशन सेंटर बना है। जापान हमारे विश्‍वसनीय दोस्‍तों में से एक है। जापान से काशी को नया सौगात मिला है। रुद्राक्ष कंवेंशन सेंटर के लिए जापान का धन्‍यवाद।

पीएम ने कहा कि दुनियाभर से लोग बनारस आते हैं। बनारस के रोम-रोम में संगीत बसा हुआ है और यह कला का ग्‍लोबल सेंटर बन गया है। सबके हित और कल्याण के लिए आंसू के रूप में भगवान शिव की आंखों से रुद्राक्ष प्रकट हुआ था। उनका आंसू मानव के लिए प्रेम का प्रतीक है।

पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना काल में जब दुनिया ठहर गई थी तो काशी संयमित और अनुशासित हुई। उस समय भी विकास की धारा बहती रही। मैं काशी के विकास के लिए आया हूं। उन्‍होंने कहा कि चाहे कितना भी समय बीत जाए लेकिन जब इस शहर से मुलाकात होती है तो भरपूर प्यार देता है।

पीएम मोदी ने कहा, पिछले 6-7 वर्षों में बनारस के हैंडीक्राफ्ट और शिल्प को मजबूत करने की दिशा में काफी काम हुआ है। इससे बनारसी सिल्क और बनारसी शिल्प को फिर से नई पहचान मिल रही है। भारत और जापान की सोच है कि हमारा विकास हमारे उल्लास के साथ जुड़ा होना चाहिए। ये विकास सर्वमुखी होना चाहिए, सबके लिए होना चाहिए, और सबको जोड़ने वाला होना चाहिए।

पीएम मोदी ने कहा, चाहे रणनीतिक हो या आर्थिक, जापान आज भारत के सबसे विश्वसनीय दोस्तों में से एक है। हमारी दोस्ती नेचुरल पार्टनरशिप में से एक माना जाता है। अभी अपने पिछले कार्यक्रम में मैंने काशीवासियों से कहा था कि इस बार काफी लंबे समय के बाद आपके बीच आने का सौभाग्य मिला। लेकिन बनारस का मिजाज ऐसा है कि अरसा भले ही लंबा हो जाये, परंतु ये शहर जब मिलता है तो भरपूर रस एक साथ ही भरकर दे देता है।

Chhattisgarh