Sep 19 2021 / 1:00 AM

लोकसभा में विपक्ष ने जमकर किया हंगामा, स्पीकर के सामने फाड़े पर्चे

Spread the love

नई दिल्ली। संसद के मानसून सत्र के दौरान लगातार हंगामा हो रहा है। लोकसभा में बुधवार को कांग्रेस सांसदों ने जमकर हंगामा किया और पर्चे फाड़कर लहराए। लोकसभा अध्यक्ष की कुर्सी और ट्रेजरी बेंच पर भी विपक्ष ने फटे पर्चे फेंके और प्ले कार्ड लहराए। विपक्ष ने पेगासस जासूसी कांड पर चर्चा से सरकार पर भागने का आरोप लगाया।

सूत्रों के अनुसार, सदन में हंगामा करने और कागज फाड़कर आसन की ओर फेंकने वाले 10 विपक्ष के सांसद निलंबित हो सकते हैं। मोदी सरकार सांसदों के खिलाफ प्रस्ताव लाएगी। सभी 10 संसद कांग्रेस और टीएमसी के हैं। सांसद मानिक टैगोर, डीन कुरियाकोस, हिबी ईडन, एस ज्योइमणि, रवनीत बिट्टू, गुरजीत औजला, टीएन प्रतापन, वी वैथीलिंगम, सप्तगिरी शंकर, एएम आरिफ, दीपक बैज नियम 374 (2) के तहत निलंबित किए जा सकते हैं।

बता दें कि विपक्षी दलों के सदस्य पेगासस जासूसी मामले और केंद्र के तीन नये कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर मौजूदा सत्र के पहले दिन से सदन में नारेबाजी कर रहे हैं। इस कारण से सदन में अब तक कामकाज बाधित रहा है और कार्यवाही सुचारू रूप से नहीं चल पा रही।

आज सुबह भी सदन की बैठक शुरू होते ही जब अध्यक्ष बिरला ने प्रश्नकाल चलाने का निर्देश दिया तो कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस के सदस्य उक्त विषयों पर नारेबाजी करते हुए और तख्तियां लहराते हुए आसन के समीप आ गये। शोर-शराबे के बीच ही अध्यक्ष ने पूरा प्रश्नकाल चलाया और रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव, कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री जितेन्द्र सिंह और विधि एवं न्याय मंत्री किरेन रीजीजू ने अनेक सदस्यों के पूरक प्रश्नों के उत्तर दिये।

पेगासस जासूसी विवाद और असम-मिजोरम विवाद जैसे मुद्दों पर केंद्र को घेरने की रणनीति तैयार करने के लिए 14 विपक्षी दलों ने बुधवार को बैठक की। 14 दलों में आम आदमी पार्टी (आप) भी थी जो अब तक किसी भी संयुक्त विपक्षी रणनीति का हिस्सा नहीं रही है। हालांकि, बैठक में तृणमूल कांग्रेस ने भाग नहीं लिया, क्योंकि सांसद उसी समय ममता बनर्जी से मिल रहे थे।

बैठक में भाग लेने वाले दलों में कांग्रेस, डीएमके, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी), शिवसेना, राष्ट्रीय जनता दल (राजद), समाजवादी पार्टी, सीपीआई-एम, सीपीआई, नेशनल कॉन्फ्रेंस (एनसी), आप, आईयूएमएल, आरएसपी केसीएम और वीसीके शामिल थे। विपक्षी नेताओं ने बुधवार को लोकसभा में राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे के कक्ष में मुलाकात की, जहां राहुल गांधी भी मौजूद थे। उन्होंने फैसला किया कि विपक्षी दल पेगासस जासूसी मामले में जांच के आदेश देने के लिए सरकार पर दबाव डालेंगे।

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी कथित जासूसी मामले की जांच की मांग को लेकर पेगासस मुद्दे पर लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव पेश करेंगे। राज्यसभा में पेगासस कांड और असम-मिजोरम विवाद पर निलंबन नोटिस जारी किए गए हैं। पेगासस कांड पर कई अन्य विपक्षी सांसदों ने भी लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव दिया है। असम-मिजोरम विवाद पर कांग्रेस के रिपुन बोरा ने राज्यसभा में निलंबन का नोटिस दिया है।

Chhattisgarh