माँ, बहन-बेटी का कल्याण हमारी सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता – मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री चौहान कुसमी जिला सीधी के सामूहिक विवाह सम्मेलन में वर्चुअली सम्मिलित हुए

भोपाल। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि माँ, बहन-बेटी का कल्याण हमारी सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। इसी उद्देश्य से प्रदेश में कई कल्याणकारी योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। बेटियों की जिंदगी आसान बनाने के लिए राज्य सरकार ने कई कदम उठाए हैं। बेटी,परिवार व समाज को बोझ ना लगे,और विवाह उत्सव व उल्लास के साथ हो,इस उद्देश्य से ही राज्य सरकार द्वारा मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना आरंभ की गई। मुख्यमंत्री श्री चौहान निवास स्थित कार्यालय भवन समत्व से सीधी जिले के कुसमी जनपद में मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना अंतर्गत हुए सामूहिक विवाह सम्मेलन में वर्चुअली सम्मिलित हुए। सम्मेलन में 132 जोड़ें परिणय सूत्र में बंधे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नवविवाहित जोड़ों को आशीर्वाद, शुभकामनाएं और बधाई देते हुए कहा कि ईश्वर से यही प्रार्थना है कि नवविवाहितों के जीवन में सुख, समृद्धि, रिद्धि-सिद्धि और प्रसन्नता सदैव बनी रहे। भारतीय संस्कृति में विवाह को संस्कार माना गया है। यह जन्म-जन्म के रिश्तों का आधार है, नवविवाहित दंपति, प्रेम, स्नेह और आत्मीयता से जीवन व्यतीत करें, दोनों परिवारों का मान-सम्मान, प्रतिष्ठा बढ़ायें तथा सामाजिक दायित्वों का निर्वहन करें। मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के अंतर्गत प्रत्येक नवदम्पति को 49 हजार रूपए की राशि प्रदान की जा रही है, ताकि वे गृहस्थी आरंभ करने के लिए अपनी जरूरत और पसंद के अनुसार स्वयं सामग्री ले सकें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ‘मामा की दुआएं लेती जा-जा तुझको सुखी संसार मिले’ की मंगल कामना के साथ नवविवाहिता बेटियों को शुभकामनाएं दीं।

Share With

Chhattisgarh