Sep 20 2021 / 4:56 AM

मानसून सत्र: दोनों सदनों में विपक्ष का हंगामा, लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही स्थगित

Spread the love

नई दिल्ली। कोरोना संकट के बीच सोमवार से संसद का मानसून सत्र शुरू हो गया, लेकिन विपक्ष के हंगामे के चलते संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही मंगलवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। बता दें कि संसद के दोनों सदनों में कार्यवाही शुरू होते ही कोरोना की दूसरी लहर, महंगाई, चीन से जुड़े मामले, पत्रकारों-नेताओं की जासूसी और जनसंख्या नीति के मुद्दे को लेकर हंगामा शुरू हो गया, जिसके चलते लोकसभा और राज्यसभा को 2 बजे तक के लिए स्थगित करना पड़ा। 

फिर 2 बजे जब सदन की कार्यवाही जब शुरू हुई तो विपक्ष ने एक बार फिर से हंगामा शुरू कर दिया जिससे लोकसभा को 3.30 बजे  और राज्यसभा को तीन बजे तक के लिए स्थगित करना पड़ा। इसके बाद तीन बजे राज्यसभा और 3.30 बजे लोकसभा की कार्यवाही फिर से शुरू हुई लेकिन इस बार भी विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया जिसके चलते दोनों सदनों की कार्यवाही मंगलवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई।

वहीं हालत ये हो गई कि पीएम नरेंद्र मोदी लोकसभा में अपने मंत्रियों का परिचय भी नहीं करा सके। मोदी ने इस पर विपक्ष को बात-बात में आरक्षण और महिला विरोधी बताया। लोकसभा में कार्यवाही शुरू ही हुई थी कि विपक्षी सदस्य हंगामा करने लगे। सदन में वे जोर-जोर से चीख रहे थे। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला लगातार सदस्यों से शांत होने की अपील करते रहे।

पीएम मोदी को सबसे पहले नए बने मंत्रियों का परिचय सदन में करवाना था, लेकिन विपक्षी सदस्य शांत नहीं हुए। इसके बाद लोकसभा की कार्यवाही दोपहर 2 बजे तक स्थगित करनी पड़ी। पीएम मोदी ने लोकसभा में विपक्ष के हंगामे पर कहा कि देश के कुछ लोगों को रास नहीं आ रहा है कि अनुसूचित जाति, जनजाति, पिछड़े और महिलाएं इतनी बड़ी तादाद में मंत्री बनी हैं।

वहीं, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि मैंने अपने 24 साल के राजनीतिक जीवन में पहली बार देखा है कि प्रधानमंत्री को सदन में अपने मंत्रियों का परिचय देने से रोका गया। राजनाथ ने इसे बहुत दुखदायी और सदन की परंपरा के लिए गलत बताया। वहीं, राज्यसभा की कार्यवाही भी हंगामे की वजह से स्थगित करनी पड़ी। वहां भी विपक्ष के सदस्य हंगामा मचाने लगे थे।

विपक्ष ने पहले ही तय किया था कि वो कोरोना महामारी की दूसरी लहर, कृषि कानून और वैक्सीन जैसे मुद्दे लेकर मोदी सरकार को घेरेगा। हालांकि, रविवार को हुई सर्वदलीय बैठक में पीएम ने साफ कह दिया था कि सरकार सार्थक चर्चा कराने के लिए तैयार है। इसके बावजूद लोकसभा और राज्यसभा में विपक्ष ने हंगामा बरपाया।

Chhattisgarh