Sep 22 2021 / 2:58 PM

मैं सबसे लंबे समय तक मोटापे का शिकार रहा: अर्जुन कपूर का सनसनीखेज एवं भावुक खुलासा

Spread the love

अभिनेता अर्जुन कपूर अपनी लेटेस्ट फिल्म संदीप और पिंकी फरार के साथ अपने करियर की ऊँचाई पर हैं। अर्जुन कपूर ने अपना काफी वजन कम कर लिया है और हर किसी की आंखों में आ गए हैं। उन्होंने बताया कि वो सालों के बाद अंततः खुश महसूस कर रहे हैं। उन्होंने मोटापे से लड़ाई और सोशल मीडिया पर बॉडी शेमिंग के बाद अपने भावुक सफर का खुलासा किया।

अर्जुन ने कहा, ‘‘यह बहुत खास अहसास है क्योंकि कुछ साल पहले तक मैं वैसा था। मैं अपने दर्शकों एवं आलोचकों का आभारी हूँ, जिन्होंने संदीप और पिंकी फरार में मेरे काम को पसंद किया। इस फिल्म की सफलता मेरे लिए व्यक्तिगत रूप से बहुत महत्वपूर्ण है और इसने मुझे भविष्य के लिए उत्साहित कर दिया है, जो अभिनेता के रूप में मुझे अभी देखना है। मैं बेहतर शरीर हासिल कर पाया और मैं इसका श्रेय अपनी मनः स्थिति को देता हूँ।’’

अर्जुन ने बताया कि उन्हें अपने मन को सकारात्मक सोच से भरा हुआ रखने के लिए काफी मुश्किल समय देखना पड़ा। वो बचपन से ही मोटापे का शिकार थे। उन्होंने बताया कि इंटरनेट भी विषैली जगह है और कोई किस मनः स्थिति से गुजर रहा है, यह समझे बिना उसे शेमिंग का शिकार बनाना आज की दुखद संस्कृति बन गई है।

उन्होंने बताया, ‘‘मेरे स्वास्थ्य की स्थिति ने मुझे अपने आकार में बने रहने के लिए हमेशा काफी संघर्ष करवाया। बहुत कम लोगों को मालूम है कि मैं लंबे समय तक मोटापे से संघर्ष करता रहा। मैं केवल एक मोटा बच्चा नहीं था, बल्कि मेरा मोटापा एक बड़ी समस्या थी। यह आसान नहीं था। मेरे शरीर के लिए मेरी काफी आलोचना हुई है, और मैंने उस आलोचना को भी स्वीकार किया क्योंकि लोग अभिनेताओं से एक विशेष शरीर आकृति में बने रहने की अपेक्षा करते हैं। मैं वो समझता हूँ। उन्होंने मेरे संघर्ष को नहीं समझा। मुझे इसका कोई दुख नहीं। मुझे केवल खुद के और जो लोग मुझमें भरोसा करते हैं, उनके लिए खुद को साबित करना है।’’

अर्जुन आगे कहते हैं, ‘‘शीघ्र परिणाम हासिल करने के लिए मेरी स्थिति ने मेरे लिए अद्वितीय परिस्थितियां उत्पन्न कीं। लोग जो परिणाम एक महीने में हासिल कर पाते हैं, उसके लिए मुझे दो महीने लगे। इसलिए अपना शरीर हासिल करने के लिए मुझे एक साल पर अपना ध्यान खुद पर केंद्रित करना पड़ा। अब मैं और ज्यादा फिट एवं बेहतर बनना चाहता हूँ। इस सफर ने मुझे प्रोत्साहित किया है और दिखाया है कि जीवन में कुछ भी असंभव नहीं। मुझे हर स्थिति में केवल लगन बनाए रखनी है। दुर्भाग्य से, शेमिंग हमारी संस्कृति का हिस्सा बन गई है और मैं केवल आशा करता हूँ कि हम समाज के रूप में बेहतर होते जाएं। हाँ, मुझे अभी भी उम्मीद है।’’

अर्जुन इस बात को स्वीकार भी करते हैं कि हिट फिल्में देने के बावजूद सभी अभिनेताओं पर निरंतर खुद को साबित करने का दबाव बना रहता है। वो सभी लोगों की नजरों में होते हैं और उनके जीवन की लगातार समीक्षा होती है। उनके जीवन का हर कोई आंकलन करता है। यह कोई आसान प्रोफेशन नहीं है।

अर्जुन ने बताया, ‘‘उद्योग में उपयोगी बने रहने का दबाव बहुत ज्यादा रहता है और नकारात्मकता आप तक पहुंच ही जाती है। जब मेरी फिल्में अपेक्षा के अनुरूप काम नहीं कर रही थीं, जो नकारात्मकता बढ़ गई। जिन चीजों ने मेरी सेहत को पहले प्रभावित किया था, वो फिर से आ गईं और मैं आगे बढ़ने के लिए कड़ी मेहनत करता रहा। हर दिन को उपयोगी बनाता रहा।’’

उन्होंने कहा, ‘‘जब आप निरंतर काम के दबाव में होते हैं, तब आपको यह अहसास नहीं होता कि आप फिसल भी सकते हैं। आपको यह अहसास नहीं होता कि आप साहसी चेहरा रखते हुए अंदर से टूट सकते हैं। मेरे साथ ऐसा हुआ। कई लोगों के साथ यह होता है।’’

संदीप और पिंकी फरार में बेहतरीन प्रदर्शन करने के बाद लोग कह रहे हैं कि यह अर्जुन 2.0 है। उन्होंने माना कि अभिनेता को मिली प्रशंसा उसे स्नेह को महसूस करने के लिए प्रेरित व मदद करती है।
अर्जुन ने कहा, ‘‘मुझे खुशी है कि मेरा काम बढ़ रहा है। मुझे लगता है हम सभी खुश हैं। इसलिए यदि लोगों को पसंद है कि मेरा वजन कम हो गया और मैं बेहतर दिखाई दे रहा हूँ, तो मैं इस प्रोत्साहन के लिए उन्हें धन्यवाद देता हूँ। सकारात्मकता और नकारात्मकता हमारे काम का हिस्सा हैं। अभिनेता के रूप में हमें इन्हें स्वीकार करना होगा और आगे बढ़ना होगा।’’

उन्होंने कहा, ‘‘महामारी के दौरान मैंने पॉजि़टिव लिविंग के बारे में कई चीजें पढ़ना शुरू किया और उससे मुझे कई सारी चीजें ठीक करने में मदद मिली। मैंने लगातार खुद को केंद्रित करने का प्रयास किया, और शायद लॉकडाउन ने मुझे खुद पर केंद्रित होने में मदद की एवं सारे अनावश्यक शोरगुल को खत्म किया, जो उद्योग में हर व्यक्ति झेलता है।’’

इस समय अर्जुन अपने सबसे अच्छे रूप में दिख रहे हैं। वो एक विलेन 2 में दिखाई देंगे। यह एक बड़ी थियेट्रिकल एंटरटेनर है, जो लोगों को वापस थिएटर्स में लाने में मदद करेगी। उन्होंने बताया कि उन्हें डायरेक्टर मोहित सूरी की अपेक्षा के अनुरूप शरीर पाने के लिए काफी कड़ी मेहनत करनी पड़ी। वो चाहते थे कि अर्जुन खुद के लिए परिश्रम करें।

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे उम्मीद है कि जब एक विलेन 2 में लोग मुझे देखेंगे, तो उन्हें आश्चर्य होगा। मोहित सूरी ने मुझे पर्दे पर एक विशेष तरीके से दिखने की कल्पना की है और मैं यह सुनिश्चित करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा हूँ कि मेरे लुक के साथ एक ठोस व मनोरंजक प्रदर्शन मिले।’’

अर्जुन अपने परिवार एवं फैंस की सराहना करते हैं कि उनके मुश्किल वक्त में परिवार ने कभी उनका साथ नहीं छोड़ा।उन्होंने कहा, ‘‘मैं केवल यही कह सकता हूँ कि मैं उन लोगों का आभारी हूँ जो मेरे लिए शक्ति का स्तंभ बने रहे। उन्होंने मुझे स्नेह दिया, मुझे खास बनाया और उनक प्रेरणा से मैं जीवन के हर क्षण में आशान्वित बना रहा। उन्होंने मुझे खुद में भरोसा करना सिखाया और मुझे अहसास कराया कि मैं आज जहां हूँ, अपनी मेहनत से हूँ। मैं अपने सभी फैंस और उन लोगों को धन्यवाद देता हूँ, जिन्होंने मेरे जीवन के इस चरण में सकारात्मक संदेश भेजे क्योंकि उन्हीं की वजह से मैं आगे बढ़ सका और खुद पर एवं अपने जीवन पर केंद्रित रह सका।”

Chhattisgarh