Sep 17 2021 / 6:35 AM

‘मैंने वाकई कभी ध्यान नहीं दिया कि लोग मेरे बॉडी टाइप को लेकर क्या बातें कर रहे हैं’

Spread the love

यह कहना है ‘जयेशभाई जोरदार’ की एक्ट्रेस शालिनी पांडे का, जिनके अविश्वसनीय कायापलट ने सबको हैरत में डाल दिया

‘जयेशभाई जोरदार’ के साथ बड़े पर्दे पर हिंदी फिल्मों में अपना डेब्यू करने जा रही शालिनी पांडे ने अपने शारीरिक परिवर्तन से सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया है। वह जबर्दस्त फिट नजर आ रही हैं और सोशल मीडिया पर उनकी ग्लैमरस तस्वीरें देख कर लोग दांतों तले उंगली दबा रहे हैं। ‘अर्जुन रेड्डी’ में दिए गए अपने कमाल के परफॉर्मेंस से शोहरत पाने वाली शालिनी का कहना है कि उन्होंने इंडस्ट्री के लिए खास तरह दिखने का दबाव कभी महसूस नहीं किया।

शालिनी बताती हैं, “मुझे हमेशा से अपनी फिजिक पर भरोसा रहा है और मैंने कभी इस पर ध्यान नहीं दिया कि लोग मेरे शरीर को लेकर क्या बातें कर रहे हैं। शारीरिक रूप से मैं जिस भी फेज में थी, वह मुझे पसंद आता था और दरअसल किसी खास तरह का बॉडी टाइप हासिल करने के लिए मैंने खुद पर कभी दबाव नहीं डाला।”

वह स्वीकार करती हैं कि अपने लुक को लेकर महिलाओं की बेवजह नुक्ताचीनी की जाती है- “मेरा खयाल है कि शारीरिक रूप से एक खास तरह का दिखने को लेकर महिलाओं पर बहुत दबाव होता है और यह ठीक बात नहीं है। इसलिए मैं खुद में आए शारीरिक बदलाव को किसी ट्रांसफॉर्मेशन के तौर पर नहीं देखती। मैं इसे अपनी बॉडी के उस फेज के रूप में देखती हूं, जिसे अपनी सही भूमिका निभाने हेतु स्क्रीन पर दिखने के लिए हासिल किया गया है। बहरहाल अपने मौजूदा लुक को लेकर मैं बेहद खुश हूं और इससे मुझे सुकून भी मिला है।“

शालिनी का कहना है कि अपनी सेहत को लेकर वह हमेशा सचेत और जागरूक रही हैं। एक्ट्रेस बताती है, “मैंने अब तक की जिंदगी में अक्सर सेहतमंद खाना ही खाया है। मैं हमेशा खेलकूद में हिस्सा लेती रही हूं और 5वीं कक्षा से ही मैंने स्वीमिंग शुरू कर दी थी। दरअसल मैं कई तरह के खेल खेलती थी, जिनमें बैडमिंटन और वॉलीबॉल भी शामिल हैं। मैं बहुत ऑउटडोर किस्म की बच्ची थी। यकीनन मैं हमेशा से फिटनेस की दीवानी रही हूं।”

अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए शालिनी कहती हैं, “वजन घटाने की इस खास जरूरत के लिए मुझे खाने-पीने के एक प्लान पर अमल करना पड़ा, और सौभाग्य से मैं एक ऐसी फिल्म कर रही थी, जिसमें डांस रिहर्सल बहुत होती थी, जिसने मेरा वजन घटाने में बड़ा साथ दिया। इसलिए मैं ऐसा कुछ खास नहीं बता सकती, जो अपना वजन घटाने के लिए मैंने किया हो। लेकिन मुझे लगता है कि खाने-पीने का चुस्त प्लान वाकई मेरे काम आया।

मैं रोजाना करीब चार घंटे डांस करती थी और यह कार्डियो से जुड़ी पर्याप्त गतिविधि थी, जिससे मुझे बहुत मदद मिली।”

शालिनी ‘जयेशभाई जोरदार’ की बिग स्क्रीन रिलीज को लेकर बेहद उत्साहित हैं, जिसमें वह सुपरस्टार रणवीर सिंह के अपोजिट अभिनय कर रही हैं। वह बताती हैं कि उन्हें अपनी फिल्म को सिनेमाघरों में रिलीज होते देखने वाली उत्तेजना का ‘मजा’ आ रहा है और अपेक्षाओं पर खरा उतरने का वह कोई दबाव महसूस नहीं कर रही हैं। रणवीर ने ‘जयेशभाई जोरदार’ की स्क्रिप्ट को ‘चमत्कारिक’ बताते हुए इसकी तारीफ के पुल बांध दिए थे।

वह कहती हैं, “मैं फिल्मों में काम करने के लिए हमेशा बड़ी उत्सुक रही हूं। मैंने एक्टिंग और फिल्म मेकिंग की प्रक्रिया का हमेशा आनंद उठाया है। इसलिए मैं यह नहीं कहूंगी कि बड़े पर्दे पर होने जा रहे मेरे हिंदी डेब्यू का मुझ पर कोई दबाव है। दरअसल इसे मैं उत्साह का नाम दूंगी क्योंकि मैं हमेशा बेहद खुश रहती हूं और यकीनन फिल्म की रिलीज का इंतजार कर रही हूं। मैं वास्तव में यह देखने के लिए बेसब्र और बेताब हूं कि लोग इस फिल्म को और मेरे परफॉर्मेंस को किस रूप में लेते हैं। मैंने अपने किरदार और फिल्म के लिए वाकई कड़ी मेहनत की है।”

एक आर्टिस्ट के रूप में अपने ऑन-स्क्रीन परफॉर्मेंस को बेहतरीन बनाने के लिए शालिनी अपने बॉडी टाइप को बदलने में हमेशा सहज महसूस करती हैं।

वह बताती हैं, “मैं अपने हाथ में आए हर प्रोजेक्ट में ढेर सारी इनर्जी और पैशन झोंक देने वाली एक्टर हूं। मैं चाहती हूं कि मेरा परफॉर्मेंस खुद सर चढ़ कर बोले और लोगों की जबान पर चढ़ जाने वाला परफॉर्मेंस देने के लिए मैं खुद को किसी भी हद तक ले जाऊंगी। अगर किसी फिल्म की स्क्रिप्ट और मेरे निर्देशक की जरूरत है कि मैं स्क्रीन पर एक खास तरह की दिखूं तो मुझे अपना बॉडी टाइप बदलने में कोई हिचक या समस्या नहीं होगी।”

अपनी बात को समाप्त करते हुए शालिनी कहती हैं, “बॉडी को बदलते वक्त उसमें हार्मोन संबंधी जबर्दस्त बदलाव आ सकते हैं, क्योंकि जब आप वजन को बढ़ा या घटा रहे होते हैं, तो आपको पता होना चाहिए कि आपका शरीर भारी दबाव झेल रहा होता है। हालांकि स्क्रिप्ट की मांग के मुताबिक मैं तब भी पीछे नहीं हटूंगी, क्योंकि अगर मेरे किरदार को एक खास तरह का दिखने की जरूरत है, तो क्यों न आगे बढ़ा जाए? ऐसा करने से मुझे स्क्रीन पर ऑथेंटिक परफॉर्मेंस देने में मदद ही मिलेगी।”

Chhattisgarh