Nov 28 2021 / 6:11 PM

“मुझे लगता है कि माँ यशोदा की ऊर्जा, उनकी भावनाएँ मुझसे मिलती जुलती हैं क्योंकि मैं भी अपने प्रियजनों के लिए बहुत भावुक, जोश से भरपूर, अति-सुरक्षात्मक और अपने प्रियजनों के प्रति संवेदनशील हूं” – अदिति साजवान

Spread the love

टेलीविजन इंडस्ट्री में अपने अभिनय से लाखों का दिल जीतने वाली अदिति साजवान ने हाल ही में सिद्धार्थ कुमार तिवारी और स्टार भारत के अपकमिंग नए शो ‘हाथी घोड़ा पालकी जय कन्हैया लाल की’ में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही हैं। खूबसूरत और प्रतिभा से भरपूर अदिति मां यशोदा के किरदार में नज़र आएंगी। जब अभिनेत्री से मां यशोदा का किरदार निभाने को लेकर बातचीत की गई तो इसे लेकर उत्साहित अदिति ने कई महत्वपूर्ण बातें बताई:

अपने शो के बारे में बताएं?

‘हाथी घोड़ा पालकी जय कन्हैया लाल की’ एक ऐसा शो है जो भगवान कृष्ण की बाल लीलाओं पर आधारित है और यह बालकृष्ण और उनकी पालने वाली मां यशोदा के बीच अद्वितीय और सुंदर बंधन के इर्द-गिर्द घूमता है। यह शो बाल कृष्ण की सदियों पुरानी कहानियों को एक नए दृष्टिकोण और सूक्ष्म विवरणों के साथ प्रस्तुत करेगा। साथ ही, शीर्षक “हाथी घोड़ा पालकी, जय कन्हैयालाल की” अपने आप में सर्वशक्तिमान के जीवन और देवत्व का उत्सव मानने के समान है।

This image has an empty alt attribute; its file name is amit-5.jpg

अपने किरदार के बारे में कुछ बताएं?

मेरा मानना ​​है कि मेरा किरदार शो की प्रेरक शक्ति और आत्मा है। धार्मिक पुस्तकों के अनुसार, माँ यशोदा ही कारण है कि कृष्ण के रूप में पृथ्वी पर विष्णु ने अवतार लिया था ताकि वह अपना वादा पूरा कर सकें और दुनिया माँ का एक निस्वार्थ अटूट प्रेम देख सके। मुझे इस किरदार से प्यार हो गया है। इस तरह के कठिन, लेकिन खूबसूरत किरदार को निभाने को लेकर हमेशा मेरे रोंगटे खड़े हो जाते हैं। मुझे लगता है कि मां यशोदा की ऊर्जा, उसकी भावनाएँ मुझमें बहुत मिलती हैं। मैं भी उनकी तरह ही अपने प्रियजनों के प्रति बहुत भावुक, जोश से भरपूर , अति सुरक्षात्मक और संवेदनशील हूं। मैं आशा करती हूं कि ज्यादातर महिलाएं मेरे मां यशोदा के किरदार को देखकर कम से कम खुद का एक हिस्सा पाएंगी।

यह दूसरी बार है जब आप यशोदा की भूमिका निभा रही होंगी। पौराणिक कथाओं के साथ आपकी निकटता का कोई विशेष कारण?

यह मेरा दूसरा पौराणिक शो है जहां मैं मां यशोदा की भूमिका निभा रही हूँ। इस शो को करने का कारण यह था कि पिछली बार जब मैंने यशोदा की भूमिका निभाई थी, तो मुझे दर्शकों से बहुत सारा प्यार, प्रशंसा और पहचान मिली थी और मैं इस किरदार से किसी न किसी तरह जुड़ी हुई हूं क्योंकि यह मेरी पहली मुख्य भूमिका है। इसलिए, मैंने सोचा कि इस भूमिका को दोबारा करना सही होगा, बल्कि यह घर वापसी जैसा होगा। साथ ही, प्रोडक्शन हाउस और चैनल ने मुझे इतने सम्मान के साथ इस किरदार को पेश किया, जिसे मैं मना नहीं कर सकी। मेरे प्रशंसक भी बहुत खुश हैं जब से उन्हें यह पता चला कि मैं फिर से मां यशोदा का किरदार निभा रही हूं। तो, यह मेरे तरफ से मेरे सभी उत्साही प्रशंसकों के लिए एक उपहार की तरह है जो मुझे इस किरदार में बहुत प्यार करते हैं।

क्या शो में एक बच्चे के साथ शूटिंग करना चुनौतीपूर्ण है?

हां, एक छोटे बच्चे के साथ शूटिंग करना पूरी यूनिट के लिए बहुत चुनौतीपूर्ण है। हमें बच्चे की सहूलियत और समझ के मुताबिक ही शूट करना होता है। बेबी हेज़ल बहुत छोटी है, उसे नहीं पता कि उसे अभिनय करना है। इसलिए, कभी-कभी सभी के लिए एपिसोड को समय पर और ठीक उसी तरह से वितरित करना कठिन होता है जिस तरह से वे लिखे गए हैं। लेकिन, बेबी हेज़ल का होना हमारे शो की यूएसपी भी है। इतना छोटा बच्चा पहले कभी किसी शो का इतना महत्वपूर्ण हिस्सा नहीं रहा। मुझे यकीन है कि हम सभी बाधाओं को पार करेंगे और सभी चुनौतियों का सामना कर पाने में सफल होंगे, जिससे हम इसे एक अच्छा शो बनाएंगे जो सभी को पसंद आएगा।

एसकेटी कबीले से जुड़कर और इसका हिस्सा बनकर कैसा लग रहा है?

मैं एसकेटी कबीले का एक नया हिस्सा बनकर बहुत खुश हूं। मैंने इस टीम के बारे में बहुत सारी अच्छी बातें सुनी हैं। अब, उन्हें स्वयं अनुभव करने के बाद, मैं निश्चित रूप से यह कह सकती हूं कि वे बहुत अच्छे निर्माता हैं और उनकी पूरी टीम भी अद्भुत है, वे अपने अभिनेताओं का ख्याल रखते हैं और सभी को उचित सम्मान देते हैं। हम जहां शूट कर रहे हैं वह जगह भी खूबसूरत और शांत है। मुझे यहां सभी से बहुत सकारात्मक वाइब्स मिलती हैं। यदि आपका काम करने का माहौल अच्छा है और आपकी टीम इतनी देखभाल करने वाली है तो यह सोने पर सुहागा के समान है, मैं वास्तव में इसका बहुत आनंद ले रही हूं।

This image has an empty alt attribute; its file name is mp-3.jpg

आपके निजी जीवन में क्या खास हो रहा है, इसके बारे में कुछ बताएं?

ईमानदारी से कहूं तो दुनिया में इतनी उथल-पुथल चल रही है। मुझे लगता है कि अगर आपके निजी जीवन में कुछ भी गलत नहीं हो रहा है, तो आप भाग्यशाली और धन्य हैं। भगवान के आशीर्वाद से जेब और मेरा रिश्ता बहुत स्थिर रहा है वो भी कई सालों से जो मेरा भाग्य है और जेब और मैं एक दूसरे को सामान प्यार और सामान देते हैं। मेरा दृढ़ विश्वास है कि आपके निजी जीवन का सुलझा हुआ होना बहुत महत्वपूर्ण है। एक बार सब कुछ सामान्य हो जाने के बाद, हम इस रिश्ते को आधिकारिक बनाने की योजना बना रहे हैं और उन सभी को आमंत्रित करेंगे जो हमें एक साथ देखना पसंद करते हैं।

शो में अपने लुक के बारे में बताएं?

शो में मेरा लुक बहुत खूबसूरत, आंखों को भाने वाला, गर्मजोशी से भरा, घरेलूपन का अनुभव दिलाने वाला बहुत ही रिच लुक है। माँ यशोदा सुंदर रेशम के कपड़े और गहनों से सजी एक भारतीय राजकुमारी की तरह दिखती हैं। मेकर्स ने मुझे जो कुछ भी दिया है, मैं वास्तव में उससे प्यार करती हूं, चाहे वह पोशाक हो, श्रृंगार हो या गहने सब कुछ बहुत आनंददायक है।

स्टार भारत के साथ यह आपका दूसरा कार्यकाल है, इसके साथ अपने प्यार और जुड़ाव के बारे में हमें कुछ बताएं?

मुझे बहुत बुरा लगा जब मेरा शो “अकबर का बल बीरबल” अचानक खत्म हो गया। मैं अपने किरदार का बहुत आनंद ले रही थी और यह एक अच्छा शो था, लेकिन यह सिर्फ भाग्य और संख्या ही थी जिसके चलते यह टिक नहीं सका। इसलिए, मैं दूसरी महामारी में बिना काम के उदास महसूस कर रही थी और तभी मुझे उसी चैनल पर एक नए शो के लिए स्वास्तिक प्रोडक्शंस से फोन आया और मैंने बिना पलक झपकाए हां कह दिया। मुझ पर इतना विश्वास दिखाने, मुझे यह किरदार देने के लिए मैं चैनल की बहुत आभारी हूं। यह सोचकर मुझे खुशी होती है कि वे मुझे और मेरे काम से प्यार करते हैं। मुझे उम्मीद है कि यह जुड़ाव जारी रहेगा और आने वाले वर्षों में और भी मजबूत होगा।

आपका लॉकडाउन अनुभव बताएं?

मेरा लॉकडाउन का अनुभव कुछ कड़वा था। शुक्र है कि मेरे परिवार या रिश्तेदारों में कोई हताहत नहीं हुआ। लेकिन इंडस्ट्री के मेरे कई साथियों को नुकसान हुआ, कई लोगों की जाने चली गई, मेरे पड़ोसियों ने भी अपनों को खो दिया और हर बार जब मैं ऐसी खबर सुनती, तो मैं मानसिक, भावनात्मक रूप से टूट जाती थी। यह हर किसी के जीवन का एक बहुत ही उलझन भरा, दुखद और कष्टदायक दौर था। मैंने यह भी महसूस किया कि जीवन की मूल बातें, जैसे हमारे प्रियजन, अपने सिर पर छत, अपने पेट में भोजन और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आपके स्वास्थ्य और मन की शांति के अलावा कुछ भी महत्वपूर्ण नहीं है। मुझे लगता है कि लोग बदल गए हैं और विकसित हो गए हैं या कम से कम पूरी महामारी की स्थिति के बाद खुद का बेहतर संस्करण और अधिक मानवीय बनने की कोशिश कर रहे हैं। इस दौरान मैंने अपनी रसोई की पूरी ड्यूटी की है और सरकार के सभी निर्देशों का पालन किया है। इस कठिन समय में लोग अकल्पनीय बुरे दौर से गुजरे हैं।

क्या आप ओटीटी में अवसर तलाशना चाहेंगे?

बेशक, मैं अपने ओटीटी स्पेस में प्रमुख भूमिकाएं करना पसंद करूंगी। मैं एक कलाकार हूं और बहुत भावुक हूं। सभी प्लेटफॉर्म्स को एक्सप्लोर करना मेरे लिए खुशी और सौभाग्य की बात होगी, चाहे वह फिल्में हों या ओटीटी शो हो। अभी तक, मैं सक्रिय रूप से वेब में अच्छे काम की तलाश नहीं कर रही हूं, लेकिन उम्मीद है कि जल्द ही कुछ आशाजनक काम मेरे पास आएगा।

लॉकडाउन पूरी तरह से हटने के बाद आप सबसे पहले क्या करेंगे?

आप जानते हैं कि मैं एक ऐसी व्यक्ति हूं जो अपना जीवन पूरी तरह से जीती है। मुझे यात्रा करना और हमेशा नई- नई जगहों पर घूमना, फिल्में देखना बहुत पसंद है। इसलिए, जब भी यह महामारी समाप्त होती है, तो मैं अपने पसंदीदा स्थानों पर जरूर घूमने जाउंगी। इसके अलावा, मैं थिएटर में सभी अच्छी और बुरी फिल्में देखूंगी, बहुत सारा पॉपकॉर्न खाउंगी और ढेर सारा कोला पियूँगी। और मैं ऐसा करूँ भी क्यों नहीं? मुझे यह सभी छोटी और बड़ी खुशियां बहुत याद आती हैं। मुझे यह देखकर सबसे ज्यादा खुशी होगी कि लोग अपने पैरों पर खड़े हो रहे हैं, अपनी नौकरी पर वापस जा रहे हैं, बच्चे वापस स्कूल जा रहे हैं, लोग बिना किसी डर के एक साथ जश्न मना रहे हैं।

अदिति सजवान को मां यशोदा के किरदार में देखने के लिए इस 19 अक्टूबर से हर सोमवार से शुक्रवार, रात 9:30 बजे देखें ‘हाथी घोड़ा पालकी जय कन्हैया लाल की’ सिर्फ स्टार भारत पर।

Chhattisgarh