Sep 17 2021 / 6:03 AM

कांग्रेस विधायक अदिति सिंह ने विधायक अंगद सैनी से की शादी

Spread the love

रायबरेली। बाहुबली नेता अखिलेश सिंह की बेटी और सदर से कांग्रेस विधायक अदिति सिंह का विवाह चंडीगढ़ से कांग्रेस के विधायक अंगद सिंह सैनी ने शादी कर ली है। गौरतलब है कि अदिति सिंह और अंगद सैनी की दिसंबर 2018 में सगाई हुई थी। 20 नवंबर को अदिति की मेहंदी की रस्म की गई, जिसमें कई हस्तियों ने शिरकत की थी।

हाल ही में अदिति सिंह के पिता अखिलेश सिंह का स्वर्गवास हो गया था। अदिति ने बताया कि उनके पिता ने कहा था कि अगर उन्हें कुछ हो जाता है तो भी शादी की डेट नहीं बदली जानी चाहिए। उनकी इच्छा को देखते हुए ही शादी की तारीख नहीं बदली गई।

अदिति और अंगद दोनों ही 2017 में पहली बार विधायक बने हैं और दोनों को ही राजनीति विरासत में मिली है। 2017 के विधानसभा चुनावों में अंगद ने सबसे कम आयु के विधायक के तौर पर खुद की पहचान बनाई। अंगद के पिता विधायक प्रकाश सिंह सैनी और अदिति के पिता विधायक अखिलेश सिंह करीब 20 साल दोस्त रहे। दिसंबर 2018 में अंगद और अदिति की सगाई हुई थी।

अंगद और अदिति की शादी का रिसेप्शन 25 नवंबर को नवांशहर में बड़े स्तर पर होगा। इसमें 8 से 10 हजार लोगों को आमंत्रित किया गया है। रिसेप्शन पार्टी में कांग्रेस के छोटे से लेकर बड़े वर्कर तक को आमंत्रित किया गया है।

बता दें कि अखिलेश सिंह रायबरेली सीट से पांच बार विधायक रहे हैं। उन्होंने अपना सियासी सफर कांग्रेस से शुरू किया था। राकेश पांडेय हत्याकांड के बाद अखिलेश सिंह को कांग्रेस से बाहर निकाल दिया गया था। इसके बाद भी कई बार निर्दलीय विधायक चुने गए।

रायबरेली सदर विधानसभा से विधायक रहे अखिलेश सिंह दबंग छवि के नेता माने जाते थे। 15 सितंबर 1959 को जन्मे अखिलेश सिंह का सियासी सफर नवंबर 1993 में तब शुरू हुआ, जब वह कांग्रेस के टिकट पर विधानसभा के लिए पहली बार निर्वाचित हुए थे।

वर्ष 2002 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस से वह तीसरी बार 14वीं विधानसभा के सदस्य चुने गए। आपराधिक मामलों को लेकर 2003 में कांग्रेस ने उन्हें पार्टी से निकाल दिया जिसके बाद से वह कांग्रेस और गांधी परिवार पर निशाना साधते रहते थे। हालांकि सितंबर 2016 में अखिलेश सिंह की बेटी अदिति सिंह कांग्रेस में शामिल हो गईं यानी इतने लंबे समय के बाद इस रूप में अखिलेश सिंह की कांग्रेस में वापसी हुई।

Chhattisgarh