Sep 17 2021 / 6:18 AM

बंगाल उपचुनाव: भवानीपुर विधानसभा सीट से लड़ेंगी सीएम ममता बनर्जी, 10 सितंबर को करेंगी नामांकन

Spread the love

नई दिल्ली। एक बार फिर से पश्चिम बंगाल में चुनाव को लेकर सरगर्मी तेज हो गई है। दरअसल राज्य में जल्द ही उपचुनाव होने है। जिसकी घोषणा पहले ही चुनाव आयोग कर चुके है। यह उपचुनाव इसलिये भी महत्वपूर्ण है कि खुद सीएम ममता बनर्जी मैदान में ताल ठोंकती नजर आएगी। ममता बनर्जी अपने परंपरागत सीट भवानीपुर से लड़ने जा रही है।

तृणमूल कांग्रेस के नेताओं ने ममता बनर्जी के समर्थन में चुनाव प्रचार शुरू कर दिया है। भवानीपुर की दिवारों पर ‘खेला होबे’ के नारे लिखे जा रहे हैं, तो ममता बनर्जी की जीत के लिए तृणमूल कांग्रेस समर्थकों ने बेहला में पूजा व यज्ञ कर विजय का आशीर्वाद मांगा। 30 सितंबर को भवानीपुर में होने वाले उपचुनाव में ममता बनर्जी मुख्य उम्मीदवार हैं। ममता बनर्जी ने ट्वीट कर बताया कि 10 सितंबर को भवानीपुर सीट के लिए नामांकन करेंगी।

तृणमूल कांग्रेस के नेता और समर्थक ममता बनर्जी का चुनाव प्रचार के साथ-साथ पूजा-पाठ भी कर रहे हैं। कुछ दिन पहले तृणमूल समर्थकों ने पुराना शिव मंदिर के पास यज्ञ का आयोजन किया। ममता की जीत की प्रार्थना करते हुए तृणमूल समर्थकों ने कहा कि मैं मां तारा से प्रार्थना करता हूं कि ममता दीदी भारी अंतर से जीत हासिल करें। बता दें कि तृणमूल कांग्रेस ने रविवार को उन्हें आधिकारिक रूप से अपना उम्मीदवार घोषित किया है।

वरिष्ठ पार्टी नेता व कृषि मंत्री शोभनदेव चट्टोपाध्याय ने भवानीपुर से तृणमूल कांग्रेस विधायक के रूप में इस्तीफा दिया है ताकि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के उपचुनाव लड़कर राज्य विधानसभा की सदस्य बनने का रास्ता साफ हो। शोभनदेव चट्टोपाध्याय ने इस सीट पर भाजपा उम्मीदवार और अभिनेता रुद्रनील घोष को करीब 28,000 वोटों से हराया था।

ममता बनर्जी ने कहा कि वे राजनीतिक रूप से नहीं लड़ सकते, इसलिए उन्होंने एजेंसियों की मदद से कांग्रेस को रोका। वे मेरे साथ भी ऐसा ही कर रहे हैं वे फिर से पूछताछ के लिए बुला रहे हैं, लेकिन वास्तव में, जिसका नाम नारद के संबंध में सामने आया है, उसका नाम नहीं लिया गया है।

सोमवार को अधिसूचना जारी होने के साथ ही नामांकन शुरू हो गया है। 2011 के उपचुनाव में भवानीपुर से ही ममता पहली बार विधायक निर्वाचित हुई थीं। इसेक बाद 2016 में भी चुनाव जीती थीं। परंतु, 2021 में वह भवानीपुर सीट छोड़कर नंदीग्राम से चुनाव लड़ी और हार गईं। उनके सामने तृणमूल कांग्रेस के पूर्व नेता सुबेंदु अधिकारी भाजपा के टिकट पर थे।

इस चुनाव में भाजपा के सुबेंदु अधिकारी की जीत हुई और ममता बनर्जी चुनाव हार गयी थीं। इसके बाद भी वह सीएम पद की शपथ ली थी। ऐसे में उन्हें पांच नवंबर तक हर हाल में विधानसभा की सदस्यता प्राप्त करनी है। भवानीपुर के अलावा 30 सितंबर को शमशेरगंज और जंगीपुर विधानसभा सीट पर भी वोटिंग होगी। शमशेरगंज सीट से अमिरुल इस्लाम और जंगीपुर विधानसभा सीट से जाकिर हुसैन मैदान में है।

Chhattisgarh