Sep 20 2021 / 10:46 PM

इंदिरा गांधी की जयंती पर आयोजित विकास सम्मेलन में शामिल हुए सीएम भूपेश बघेल

Spread the love

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज मंगलवार को यहां न्यू सर्किट हाउस में छत्तीसगढ़ में कार्यरत स्वैच्छिक संस्थाओं के संगठन वानी द्वारा इंदिरा गांधी की जयंती पर आयोजित विकास सम्मेलन में शामिल हुए। मीडिया से चर्चा के दौरान सीएम बघेल ने कहा कि आज इंदिरा गांधी की जयंती के अवसर पर पूरा राष्ट्र उन्हें नमन कर रहा है। उन्होंने जो काम किया है, वह हमेशा स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा।

इंदिरा गांधी ने वन्यजीवों के संरक्षण के लिए शिकारी कंपनी, राजा महाराजा जो शिकार करते थे उस पर भी प्रतिबंध लगाया। हरित क्रांति उन्होंने लागू की,परमाणु परीक्षण, बैंकों का राष्ट्रीयकरण और सबसे बड़ी उपलब्धि अनाज के मामले में उन्होंने देश को स्वालंबी बनाया है।

सीएम बघेल ने कहा कि इसके साथ ही इंदिरा गांधी की सबसे बड़ी उपलब्धि, पाकिस्तान के दो टुकड़े करके उन्होंने बांग्लादेश का निर्माण किया, इतिहास में ऐसा उदाहरण दूसरा दिखाई नहीं देता। इस महान नेत्री को पूरा राष्ट्र नमन करता है और हम सब, छत्तीसगढ़ सरकार भी इंदिरा गांधी के बताए रास्ते पर चलकर यहां के लोगों के विकास और उत्थान का कार्य करेगी।

मुख्यमंत्री ने पीएससी परीक्षा को लेकर आ रही जीरो ईयर की बातों को नकारते हुए कहा कि यह दुष्प्रचार किया जा रहा है, कोई जीरो ईयर घोषित नहीं किया गया है। किसानों के लिए सीएम ने कहा कि एक तरफ बोनस देने के माध्यम से किसानों को प्रोत्साहित किया जा रहा है और दूसरी ओर उनका अनाज नहीं खरीदा जा रहा है। चावल भी नहीं खरीदा जा रहा है।

पराली जलाने को लेकर भी समस्या आ रही है। पंजाब और हरियाणा में जो हो रहा है, पराली को कंपोस्ट खाद में बदला जाना चाहिए। चुनाव प्रचार में झारखण्ड जाने को लेकर बोले सीएम ने कहा कि झारखंड के लिए बड़ी जिम्मेदारी एआईसीसी द्वारा दी गई है। सीएम बघेल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को फिर पत्र लिखकर धान खरीदी पर चर्चा करने के लिए समय मांगा गया है।

Chhattisgarh