Sep 17 2021 / 7:20 AM

एण्डटीवी पर चुनौतियों का कहर

Spread the love

इस हफ्ते एण्डटीवी पर कुछ बेहद ही दमदार कहानियां आपका इंतजार कर रही हैं। दर्शकों को जहां एक ओर ‘घर एक मंदिर-कृपा अग्रसेन महाराज की’ में जबर्दस्त ड्रामा देखने को मिलेगा। तो वहीं दूसरी ओर, ‘और भई क्या चल रहा है?, ‘हप्पू की उलटन पलटन‘ और ‘भाबीजी घर पर हैं’ में अनलिमिटेड काॅमेडी निश्चित रूप से आपको गुदगुदायेगी।

क्या निशा करेगी गेंदा के नकली गहनों को एक्सपोज?

एण्डटीवी के ‘घर एक मंदिर-कृपा अग्रसेन महाराज की‘ में हर कोई इस बात को लेकर परेशान है कि मनीष (विशाल नायक) ने आगे की तारीख के लिये बैंक्वेट हाॅल बुक कर दिया है। गेंदा (श्रेणू पारीख) कहती है कि शादी तो मंदिर के कम्युनिटी हाॅल में भी हो सकती है। गेंदा अपनी सहेलियों को आर्टिफिशियल ज्वैलरी के बारे में बता रही होती है और ऐसे में निशा (केनिशा भारद्वाज) उनकी बातें सुन लेती है। गेंदा से ईष्र्या करने वाली निशा सबके सामने आर्टिफिशियल ज्वैलरी वाली बात का भंडाफोड़ करने का फैसला करती है। एण्डटीवी के ‘घर एक मंदिर कृपा अग्रसेन महाराज की‘ में निशा अग्रवाल की भूमिका निभा रहीं केनिशा भारद्वाज कहती हैं, ‘‘ मनीष से शादी के बाद से ही वह इस परिवार में रह रही है, इसलिये जब कुंदन अग्रवाल ने उसकी जगह गेंदा को चंद्रहार देने की बात कही तो उसे परायों जैसा महसूस हुआ। निशा जलभुन जाती है और उसका व्यवहार बदल जाता है और वह लोगों का ध्यान ज्यादा से ज्यादा खींचने की कोशिश करने लगती है। जब वह गेंदा को मंडप पर सजे-धजे हुए, लेकिन नकली गहनों में देखती है तो उसका भंडाफोड़ करने का फैसला करती है। दर्शकों को देखने के लिये थोड़ा इंतजार करना होगा कि यह शादी अच्छी तरह संपन्न हो पाती है या फिर निशा जलन में आकर ड्रामा खड़ा कर देती है।’’

सकीना के ख्वाबों में जो आये?

एण्डटीवी के ‘और भई क्या चल रहा है?‘ के अपकमिंग ट्रैक में सकीना (अकांशा शर्मा) को अजीबोगरीब सपने आने लगे हैं, जोकि सच होने लगते हैं। हर कोई यह देखकर हैरान हो जाता है कि आखिर एक के बाद एक संयोग कैसे हो रहा है। सकीना को सोने के दांत का सपना आता है और उसके सपनों के एक्सपर्ट उसे बताते हैं कि उसके सपने का मतलब है घर में कोई खजाना छुपा हुआ है। पूरा परिवार मिलकर खजाने की खोज में लग जाता है। क्या मिश्रा (अंबरीश बाॅबी) और मिर्जा (पवन सिंह) को वह छुपा हुआ खजाना मिलेगा? इस ट्रैक के बारे में एण्डटीवी के ‘और भई क्या चल रहा है?‘ की अकांशा ऊर्फ सकीना मिर्जा कहती हैं, ‘‘हम सबको ही अलग-अलग तरह के सपने आते हैं, कुछ तो बड़े ही जादुई किस्म के होते हैं तो कुछ का कोई मतलब ही नहीं निकलता। इसी तरह सकीना को भी बड़े ही अजीबोगरीब सपने आने लगते हैं, जोकि आखिर में जाकर सच हो जाते हैं। अब सारा ड्रामा सकीना के सपने के इर्द-गिर्द घूम रहा है। उसके सपनों का जो मतलब निकाला जा रहा है उसे देखना दर्शकों के लिये काफी मजेदार होने वाला है।’’

पति, पत्नी और रूसा?

एण्डटीवी के ‘हप्पू की उलटन पलटन‘ में राजेश (कामना पाठक) और कटोरी अम्मा (हिमानी शिवपुरी), दरोगा हप्पू सिंह (योगेश त्रिपाठी) को रूसा (चारूल मलिक) के साथ मिलकर उसे धोखा देते हुए पकड़ लेते हैं। वे दोनों सुनने की कोशिश कर रही होती हैं कि अंदर चल क्या रहा है। उन्हें पता चलता है कि हप्पू, रूसा के लिये राजेश और अम्मा को हमेशा के लिये छोड़ देने की योजना बना रहा है। शो के आगामी ट्रैक के बारे में कामना पाठक ऊर्फ एण्डटीवी के ‘हप्पू की उलटन पलटन‘ की दबंग दुल्हनियां राजेश कहती हैं, ‘एक महिला सबकुछ बांट सकती है लेकिन अपना पति नहीं। जब उसे शक होता है कि हप्पू उसे धोखा दे रहा है तो उसकी दुनिया बिखर जाती है। लेकिन वह उन लोगों में से है जो कभी हार नहीं मानते, तो वह अम्मा की मदद से सच्चाई जानने के लिये छानबीन जारी रखती है। यह एक मजेदार ट्रैक होने वाला है; इसकी गारंटी मैं दे सकती हूं!‘‘

सक्सेना ये तूने क्या किया?

एण्डटीवी के ‘भाबीजी घर पर हैं‘ की कहानी में सक्सेना (सानंद वर्मा) खुद को चुनाव के लिये नाॅमिनेट करता है। तिवारी जी (रोहिताश्व गौड़) और विभूति (आसिफ शेख) सबके सामने उसका मजाक उड़ाने लगते हैं। लेकिन आखिर में जब वे गणित लगाते हैं तो इस नतीजे पर पहुंचते हैं कि यदि सक्सेना जीत जाता है तो उन्हें बहुत फायदा मिलेगा। इसलिये, तिवारी जी और विभूति दोनों ही सक्सेना के लिये प्रचार करना शुरू कर देते हैं और वह चुनाव जीत जाता है। अब सक्सेना, तिवारीजी और विभूति से बेइज्जती का बदला लेना चाहता है, इसलिये वह राज्य में यह नियम लागू कर देता है कि कोई भी पुरुष दूसरों की पत्नियों के साथ बात नहीं कर सकता। तिवारी जी और विभूति का तो दिल ही टूट जाता है। आखिर वे सक्सेना के नियम से कैसे पीछा छुड़ायेंगे और अपनी प्यारी भाबियों से कैसे मिल पायेंगे? इस दिलचस्प ट्रैक के बारे में रोहिताश्व गौड़ ऊर्फ एण्डटीवी के ‘भाबीजी घर पर हैं‘ के मनमोहन तिवारी कहते हैं, ‘‘सक्सेना की वजह से तिवारी और विभूति का सबसे भयानक सपना सच साबित हो गया है। अपनी प्यारी भाबियों के बिना उनका दिन अधूरा है। लेकिन जब भी वे अपनी-अपनी भाबियों से बात करने की कोशिश करते हैं, एक पहलवान आकर उन्हें पीट देता है। यह देखना बड़ा ही दिलचस्प होगा कि तिवारी और विभूति इस नियम के बीच अपनी भाबियों के करीब कैसे जा पायेंगे।‘‘

देखिये, ‘घर एक मंदिर- कृपा अग्रसेन महाराज की‘ रात 9 बजे, ‘और भई क्या चल रहा है?‘ रात 9.30 बजे, ‘हप्पू की उलटन पलटन‘ रात 10 बजे और ‘भाबीजी घर पर हैं‘ रात 10.30 बजे, हर सोमवार से शुक्रवार, सिर्फ एण्डटीवी पर!

Chhattisgarh