देश

पहलवान बजरंग पूनिया ने पीएम मोदी को लिखी चिट्ठी, लौटाया अपना ‘पद्मश्री’ अवॉर्ड

नई दिल्ली। भारत के दिग्गज पहलवान बजरंग पूनिया ने चौकाने वाला फैसला लिया है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर अपना पद्मश्री अवॉर्ड लौटाने का ऐलान किया है। अपने इस पत्र को उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि मैं अपना पद्मश्री पुरस्कार प्रधानमंत्री को वापस लौटा रहा हूं। आगे बजरंग ने लिखा कि यही मेरी स्टेटमेंट है। बता दें कि बजरंग पूनिया से पहले गुरुवार को महिला पहलवान साक्षी मलिक ने संन्यास का ऐलान कर दिया है।

पहलवान बजरंग पूनिया ने पीएम मोदी को इस पत्र में लिखा है कि कुश्ती संघ पर काबिज बृजभूषण सिंह पर इसी साल जनवरी महीने में देश की महिला पहलवानों ने सेक्सुएल हरासमैंट के गंभीर आरोप लगाए थे। उन्होंने आगे लिखा कि जब उन महिला पहलवानों ने अपना आंदोलन शुरू किया तो मैं भी उसमें शामिल हो गया था।

बजरंग ने इसके बाद अपने पत्र में पहलवानों द्वारा किए गए पूरे विरोध प्रदर्शन के बारे में लिखा। इसके साथ ही उन्होंने लिखा कि गृहमंत्री अमित शाह से हमारी मुलाकात के बाद हमें आश्वासन दिया गया था कि महिला पहलवानों को न्याय मिलेगा।

बजरंग पूनिया ने अपनी चिट्ठी में आगे लिखा है कि कुश्ती संघ के चुनाव में बृजभूषण एक बार दोबारा काबिज हो गया है और उसने स्टेटमेंट दी कि दबदबा है और दबदबा रहेगा। उन्होंने लिखा कि हमें समझ नहीं आ रहा है कि क्या करें और क्या न करें। उनका कहना है कि जिस कुश्ती के लिए उन्हें पद्मश्री पुरस्कार मिला, उसमें उनकी साथी महिला पहलवानों को अपनी सुरक्षा के लिए कुश्ती तक छोड़नी पड़ रही है।

बजरंग ने लिखा कि महिला पहलवानों को अपमानित किए जाने के बाद मैं सम्मानित बनकर अपनी जिंदगी नहीं जी पाउंगा। ऐसी जिंदगी कचोटेगी ताउम्र मुझे। इसलिए ये सम्मान मैं आपको लौटा रहा हूं।

गौरतलब है कि भारतीय कुश्ती महासंघ में पिछले काफी समय से महिला और पुरुष रेसलर ने पिछले अध्यक्ष बृजभूषण सिंह के खिलाफ कई गंभीर आरोप लगाने के साथ उनके खिलाफ आंदोलन भी किया था। वहीं अब कुश्ती संघ के नए अध्यक्ष के तौर पर नियुक्त हुए संजय सिंह भी बृजभूषण सिंह के ही खेमे के माने जा रहे हैं और इस कारण पहलवानों के बीच एक बार फिर से गुस्सा देखने को मिल रहा है।

Share With