विदेश

मालदीव सरकार ने पीएम मोदी पर टिप्पणी करने वाली शिउना को किया निलंबित, दो और मंत्रियों पर एक्शन

नई दिल्ली। भारत और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आपत्तिजनक टिप्पणी करना मालदीव के मंत्रियों को भारी पड़ गया है। मालदीव सरकार ने अपने तीनों मंत्रियों को सस्पेंड कर दिया है। मालदीव सरकार ने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर इसकी जानकारी दी। बता दें कि मालदीव सरकार द्वारा मंत्री मरियम शिउना, मालशा और हसन जिहान को सस्पेंड किया गया है।

इससे पहले मालदीव सरकार ने एक बयान जारी कर पीएम मोदी की लक्षद्वीप यात्रा पर मंत्री मरियम शिउना की टिप्पणी पर अपना रुख स्पष्ट किया था। मालदीव ने पीएम मोदी पर अपनी मंत्री की ओर से की गई टिप्पणी के बाद देश में अचानक भारत से पर्यटकों की संख्या रद्द होने में बड़ी वृद्धि देखने के बाद कहा कि वे ऐसी अपमानजनक टिप्पणी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने में संकोच नहीं करेंगे।

रविवार को एक बयान में, मालदीव के विदेश मंत्रालय ने कहा कि वे विदेशी नेताओं और उच्च पदस्थ व्यक्तियों के खिलाफ सोशल मीडिया प्लेटफार्मों पर अपमानजनक टिप्पणियों से अवगत थे। सोशल मीडिया पर तब विवाद खड़ा हो गया, जब मालदीव के एक मंत्री मरियम शिउना और कुछ अन्य नेताओं ने लक्षद्वीप के एक प्राचीन समुद्र तट पर प्रधानमंत्री मोदी का एक वीडियो पोस्ट करने के बाद उनके खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी की।

पीएम मोदी के खिलाफ की गई आपत्तिजनक टिप्पणी के बाद मरियम शिउना अपने ही देश में घिरती हुई नजर आई। मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद और पूर्व राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलेह ने अपने नेताओं के बयान पर तीखी आपत्ति जताई। पूर्व राष्ट्रपति नशीद ने कहा कि मंत्री मरियम शिउना की भाषा बेहद ही घटिया थी। भारत मालदीव की सुरक्षा और समृद्धि को लेकर खास सहयोगी है।

नशीद ने सरकार से भी अपील की। उन्होंने कहा कि मोहम्मद मुइज्जू सरकार को मंत्री की ओर से की गई टिप्पणियों से खुद को अलग रखना चाहिए। साथ ही भारत को यह संदेश देना चाहिए कि उनके बयान से सरकार का कोई लेना देना नहीं।

वहीं, पूर्व राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सालेह ने भी मंत्री के बयान की निंदा की। उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर लिखा, मैं मालदीव सरकार के मंत्रियों द्वारा भारत के खिलाफ इस्तेमाल की जा रही घृणास्पद भाषा की निंदा करता हूं। भारत हमेशा मालदीव का एक अच्छा दोस्त रहा है।

Share With