मध्यप्रदेश

एमपी में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल, आशीष सिंह को बनाया गया इंदौर कलेक्टर, कौशलेंद्र विक्रम को भोपाल की कमान

भोपाल। मध्यप्रदेश में फिर बड़ा प्रशासनिक फेरबदल किया गया है। राज्य शासन ने 7 आईएएस अफसरों को इधर से उधर किया है। भोपाल और इंदौर के कलेक्टर बदले गए है। भोपाल कलेक्टर आशीष सिंह को इंदौर कलेक्टर बनाया गया है। उनकी जगह मध्यप्रदेश पर्यटन विकास निगम के एमडी कौशलेंद्र विक्रम सिंह को भोपाल का नया कलेक्टर बनाया गया है।

इंदौर कलेक्टर इलैया राजा टी को एमडी पर्यटन निगम बनाया गया है। वे पहले भी ये जिम्मेदारी संभाल चुके हैं। इनके साथ ही रीवा संभाग आयुक्त अनिल सुचारी की छुट्टी कर दी गई। आयुक्त चिकित्सा शिक्षा गोपाल चंद्र डाड रीवा संभाग के नए आयुक्त होंगे। इनके पास शहडोल संभाग का भी अतरिक्त प्रभार रहेगा। सुचारी को सामान्य प्रशासन विभाग में सचिव पदस्थ किया गया है।

वहीं GAD में सचिव संजय गुप्ता को श्रम आयुक्त नियुक्त किया गया। श्रीकांत बनोठ से सह श्रम आयुक्त का अतरिक्त प्रभार वापस ले लिया गया है। अब वे सह आयुक्त सह संचालक नगर एवं ग्राम निवेश रहेंगे।

आशीष सिंह पूर्व में इंदौर नगर निगम के कमिश्नर रह चुके हैं। उनके कार्यकाल में ही इंदौर देश में स्वच्छता में नंबर वन बना था। उज्जैन में कोरोना के हालात बिगड़ने पर आशीष सिंह को उज्जैन कलेक्टर बनाकर भेजा गया था जहां पर उन्होंने स्थिति को संभाल लिया था।

कौशलेंद्र विक्रम सिंह एक बार 2023 में भी एक दिन के लिए भोपाल कलेक्टर बनाए जा चुके हैं। लेकिन ओंकारेश्वर में शंकराचार्य की प्रतिमा की स्थापना के महत्वपूर्ण कार्य के चलते उनका भोपाल कलेक्टर का आदेश निरस्त कर दिया गया था। उन्हें एमडी पर्यटन निगम का दायित्व सौंपा गया था। इसके बाद उनके स्थान पर आशीष सिंह को भोपाल का कलेक्टर बनाया गया था। अब एक बार फिर कौशलेंद्र को भोपाल कलेक्टर नियुक्त किया गया है। वे पहले ग्वालियर कलेक्टर भी रह चुके हैं।

इधर, मोहन सरकार ने जबलपुर रेंज के डीआईजी आरआरएस परिहार को हटा दिया है। उन्हें पीएचक्यू भेज दिया गया है। अब उनके स्थान पर टीके विद्यार्थी जबलपुर के नए डीआईजी होंगे।

Share With