देश

उदयनिधि के बचाव में उतरे पिता एमके स्टालिन, कहा- किसी धर्म को ठेस पहुंचाने का मकसद नहीं

नई दिल्ली। तमिलनाडु के सीएम एमके स्टालिन ने अपने बेटे उदयनिधि द्वारा सनातन पर दिए गए बयान का बचाव किया है। उन्होंने अपने बेटे की टिप्पणी को लेकर हो रही आलोचना को एक ‘झूठी कहानी’ बताकर खारिज कर दिया है।

एमके स्टालिन ने कहा कि उन्होंने सनातन सिद्धांतों पर अपने विचार व्यक्त किए जो अनुसूचित जाति, जनजातियों और महिलाओं के खिलाफ भेदभाव करते हैं, उनका किसी भी धर्म या धार्मिक मान्यताओं को ठेस पहुंचाने का कोई मकसद नहीं था।

उन्होंने कहा कि बीजेपी समर्थक बल दमनकारी सिद्धांतों के खिलाफ उनके विचारों को बर्दाश्त नहीं कर पा रहे हैं। इसलिए एक झूठी कहानी गढ़ दी है, जिसमें आरोप लगाया गया है कि उदयनिधि ने सनातन विचारों वाले लोगों के नरसंहार की अपील की है। उदयनिधि का किसी धर्म को ठेस पहुंचाने का मकसद नहीं है।

स्टालिन ने पीएम मोदी पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि खबरें आ रही हैं कि प्रधानमंत्री ने उल्लेख किया कि उदयनिधि की टिप्पणियों को उनके मंत्रिपरिषद की बैठक के दौरान उचित प्रतिक्रिया की आवश्यकता है।

उन्होंने कहा कि यह सुनना बहुत निराशाजनक है। प्रधानमंत्री के पास किसी भी दावे या रिपोर्ट को सत्यापित करने के लिए कई संसाधन उपलब्ध हैं। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या प्रधानमंत्री उदयनिधि के बारे में फैलाए गए झूठ से अनजान होकर बोल रहे हैं या वह जानबूझकर ऐसा कर रहे?

Share With