विदेश

बांग्लादेश में अवामी लीग को बहुमत, शेख हसीना लगातार चौथी बार चुनी गईं प्रधानमंत्री

ढाका। बांग्लादेश में रविवार को हुए आम चुनाव में एक बार फिर से भारत समर्थक अवामी लीग ने जीत हासिल की है। इसी के साथ पड़ोसी देश की सत्ता में एक बार फिर से शेख हसीना ने वापसी कर ली है। वह लगातार चौथी बार बांग्लादेश की प्रधानमंत्री चुनी गई हैं।

शेख हसीना की अवामी लीग ने 300 सदस्यीय बांग्लादेश संसद में 224 सीटों पर जीत दर्ज की है। निर्दलीयों को 62 सीटों पर जीत हासिल हुई है। जातीय पार्टी ने 4 सीटों पर कब्जा जमाया है और अन्य के खाते में 1 सीट आई है। वो इसके साथ ही बांग्लादेश की ऐसी पीएम होंगी, जिसने 5 बार सरकार चलाई। इससे पहले शेख हसीना 1991 से 1996 तक बांग्लादेश की पीएम रह चुकी हैं।

शेख हसीना ने अपने संसदीय क्षेत्र गोपालगंज-3 से बड़े अंतर से जीत हासिल की है। शेख हसीना को 249965 वोट हासिल हुए। उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी को महज 469 वोट ही मिल सके। इस सीट से शेख हसीना 8वीं बार संसदीय चुनाव जीत चुकी हैं।

शेख हसीना ने आम चुनावों में मिली बड़ी जीत के बाद कहा, भारत ने 1971 में और 1975 में भी हमारा समर्थन किया था। परिवार के सदस्यों की हत्या के छह साल बाद, भारत ने मुझे, मेरी बहन और मेरे परिवार के अन्य सदस्यों को आश्रय दिया था।

उन्होंने कहा, हम भारत को अपना पड़ोसी मानते हैं। हमारे बीच कई समस्याएं थीं लेकिन हमने इसे द्विपक्षीय तरीके से हल किया। भारत के साथ हमारे रिश्ते अद्भुत हैं। हसीना ने कहा, हर देश के साथ बांग्लादेश के अच्छे संबंध हैं क्योंकि यही हमारा आदर्श वाक्य है।

चुनावी जीत के बाद प्रेस वार्ता में शेख हसीना ने अपनी भावी नीति बताई। उन्होंने कहा कि अगले पांच साल में उनकी सरकार का मुख्य फोकस आर्थिक प्रगति पर होगा। हसीना ने कहा कि वह अपने लोगों के लिए काम करने की कोशिश करती हैं। उन्होंने कहा, मां की तरह वह बांग्लादेश की जनता की देखभाल करने का प्रयास करती हैं। उन्होंने मुझे मौका दिया है। चुनाव में हर बार लोगों ने आवामी लीग को वोट दिया है। यही कारण है कि वे एक बार फिर प्रधानमंत्री बनी हैं।

Share With