Sep 22 2021 / 2:02 PM

कमिश्नर के आश्वासन के बाद प्रदर्शनकारी पुलिसकर्मियों ने खत्म किया धरना

Spread the love

नई दिल्ली। दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच हुए हंगामे के बाद जहां वकीलों ने पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन किया था, तो वहीं मंगलवार को सुबह से ही दिल्ली स्थित पुलिस मुख्यालय के बाहर पुलिसकर्मियों ने वकीलों के खिलाफ धरना-प्रदर्शन किया। करीब 10 घंटे तक चला प्रदर्शन अब समाप्त हो चुका है और दिल्ली पुलिस के आला अधिकारियों ने बताया कि, पुलिस वालों की सारी मांगें अब मान ली गई हैं।

दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर सतीश गोलचा ने प्रदर्शन कर रहे पुलिसकर्मियों से कहा, मैं आप सभी से निवेदन करता हूं कि कृपया अपनी ड्यूटी पर लौट जाएं। तीस हजारी कोर्ट में हुई हिंसक घटना में जितने पुलिसकर्मी घायल हुए हैं, उन्हें कम से कम 25 हजार रुपए मुआवजा दिया जाएगा। इसके बाद एक पुलिसकर्मी ने कहा- अधिकारियों से आश्वासन मिलने के बाद हमने धरना खत्म करने का निर्णय लिया है।

इससे पहले गृह मंत्रालय ने मंगलवार को हाईकोर्ट में याचिका लगाई, जिसमें 3 नवंबर के कोर्ट के आदेश को संशोधित करने की मांग की गई। गृह मंत्रालय का कहना है कि 2 नवंबर को तीस हजारी कोर्ट में वकील और पुलिस के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद की घटनाओं पर यह आदेश लागू न किया जाए। कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को वकीलों के खिलाफ सख्ती न बरतने का आदेश दिया था। गृह मंत्रालय की याचिका पर अदालत ने बार काउंसिल ऑफ इंडिया (बीसीआई) समेत वकीलों के दूसरे संगठनों को नोटिस जारी किया। इस मामले पर बुधवार को सुनवाई होगी।

दूसरी तरफ, बार काउंसिल ऑफ इंडिया की अपील के हड़ताल खत्म करने की अपील के बाद भी वकील नहीं मान रहे। दिल्ली डिस्ट्रिक्ट कोर्ट्स कोऑर्डिनेशन कमिटी ने ऐलान किया किया कि हड़ताल बुधवार को भी जारी रहेगी। कमिटी ने कहा कि उसने फैसला किया है कि दिल्ली की सभी जिला अदालतों में वकील कामकाज से बुधवार को भी दूर रहेंगे।

Chhattisgarh