Sep 20 2021 / 4:56 AM

पूर्व मुख्यमंत्री जोशी के निधन पर छत्तीसगढ़ में 1 दिन का राजकीय शोक घोषित

Spread the love

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी के निधन पर शोक जताया। उन्होंने स्वर्गीय जोशी के परिवारजनों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट करते हुए दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है। संयुक्त मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी के निधन पर छत्तीसगढ़ में 1 दिन का राजकीय शोक घोषित किया गया है। राजकीय शोक में राज्य में कोई भी सांस्कृतिक गतिविधियां आयोजित नहीं की जाएंगी, वहीं राष्ट्रीय ध्वज आधे झुके रहेंगे।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट कर लिखा- मैं ईश्वर से उनकी आत्मा की शांति हेतु प्रार्थना करता हूँ। ईश्वर शोकाकुल परिवार को यह दुःख सहन करने की शक्ति दे। ॐ शांति:

भाजपा के वरिष्ठ नेता और मध्यप्रदेश के पहले गैर कांग्रेसी मुख्यमंत्री कैलाश जोशी का 91 वर्ष की आयु में भोपाल में निधन हो गया है। वे लंबे समय से बीमार थे। बता दें कि सितंबर में उनकी पत्नी तारा देवी का भी देहांत हो गया था। कैलाश जोशी भोपाल से सांसद भी रहे हैं। उनके बेटे दीपक जोशी प्रदेश भाजपा सरकार में मंत्री रह चुके हैं।

कैलाश जोशी जन्म 14 जुलाई 1929 देवास जिले की हाटपिपल्या तहसील में हुआ था। वे 1951 में स्थापित जनसंघ से संस्थापक सदस्य भी रहे। इसके बाद उन्होंने 1954 से 1960 तक देवास जिले में जनसंघ के मंत्री के तौर पर काम किया। 1955 में कैलाश जोशी हाटपीपल्या नगरपालिका के अध्यक्ष चुने गए। 1962 से लगातार सात बार बागली क्षेत्र से विधान सभा के सदस्य चुने गए। कैलाश जोशी 1972 से 1977 तक मध्यप्रदेश में नेता प्रतिपक्ष रहे थे।

आपातकाल के समय में एक माह भूमिगत रहने के बाद दिनांक 28 जुलाई, 1975 को विधान सभा के द्वार पर गिरफ्तार होकर 19 माह तक मीसा में नजरबंद रहे। 24 जून, 1977 को कैलाश जोशी मध्यप्रदेश के इतिहास में पहले गैर कांग्रेसी मुख्यमंत्री हुए। हालांकि 1978 में अस्वस्थता के कारण उन्होंने मुख्यमंत्री पद त्याग दिया था।

Chhattisgarh