हम इस बार पूरी 70 सीटें जीतने वाले हैं: सिसोदिया

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 06-01-2020 / 8:43 PM
  • Update Date: 06-01-2020 / 8:44 PM

जनता अरविंद केजरीवाल को दोबारा से दिल्ली का मुख्यमंत्री चुनने जा रही है

नई दिल्ली। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने सोमवार को दिल्ली विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान कर दिया। आगामी 8 फरवरी को दिल्ली में मतदान होगा जबकि 11 फरवरी को चुनाव परिणाम घोषित होंगे। इस ऐलान के बाद एक बार फिर से दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दावा किया कि दिल्ली की जनता ने फिर से केजरीवाल को मुख्यमंत्री बनाने का फैसला ले लिया है।

सिसोदिया ने कहा कि पिछले 5 साल में हमारी सरकार ने विकास के जो कार्य किए हैं, उसे जनता ने खुद महसूस किया है। चाहे बात दिल्ली में बेहतर शिक्षा की की जाए या बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं की, या लोगों को अन्य सुविधाओं की, दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने शानदार काम किए हैं।

सिसोदिया ने कहा कि एक बार फिर से आम आदमी पार्टी की सरकार बनने जा रही है। दिल्ली की जनता एक बार फिर से अरविंद केजरीवाल को अपना मुख्यमंत्री चुनने जा रही है। मनीष सिसोदिया ने कहा कि जहां कांग्रेस के पास कोई वोट बैंक ही नहीं है, वहीं भाजपा के साथ जो लोग हैं वह भ्रमित हैं कि आखिर भाजपा का सीएम का चेहरा कौन होगा।

सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली की जनता ने मन बना लिया है कि वह अरविंद केजरीवाल को दोबारा से दिल्ली का मुख्यमंत्री चुनने जा रही है। उन्होंने कहा कि एक बार फिर से दिल्ली की जनता, पिछली बार से भी ज्यादा प्रचंड बहुमत, आप को देने जा रही है। हम पिछली बार की 67 सीटों से भी आगे जाकर इस बार पूरी 70 सीटें जीतने वाले हैं।

त्रिकोणीय मुकाबला नहीं
सिसोदिया ने इस दौरान चुनावों में त्रिकोणीय मुकाबले को खारिज करते हुए कहा कि कांग्रेस का तो अब अस्तित्व ही नहीं रहा। उनके पास अब वोट बैंक ही नहीं बचा है। ऐसे में उन्हें मुकाबले में कहना ठीक नहीं। अगर बात भाजपा की करें तो उनके साथ जो भी लोग हैं, वे लोग उनके झूठे वायदों से आजिज आ चुके हैं। पार्टी में 7 से 8 नेता ऐसे हैं जो मुख्यमंत्री पद का दावेदार बनने के लिए आपस में भिड़े हुए हैं। खुद पार्टी भी दिल्ली में कोई चेहरा सामने पेश करने में असफल रही है। उनके पास केजरीवाल के सामने कोई नेता खड़ा करने के लायक ही नहीं है।

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF