विकास दुबे के एनकाउंटर पर सवाल नहीं खड़े करने चाहिए: शिवसेना

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 10-07-2020 / 7:25 PM
  • Update Date: 10-07-2020 / 7:25 PM

नई दिल्ली। गैंगस्‍टर विकास दुबे को उत्‍तर प्रदेश की स्‍पेशल टास्‍क फोर्स (एसटीएफ) ने एनकाउंटर में ढेर कर दिया। विकास को उस समय ढेर किया गया जब वह भागने की कोशिश कर रहा था। वहीं उत्तर प्रदेश के कानपुर में विकास दुबे के एनकाउंटर पर कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं। कांग्रेस समेत कई पार्टियां जहां उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर सवाल दाग रही हैं। इस बीच शिवसेना ने एनकाउंटर पर उत्तर प्रदेश पुलिस का समर्थन किया और कहा कि कुख्यात अपराधी को मारने के लिए पुलिस पर कोई भी सवाल नहीं किया जाना चाहिए।

शिवसेना सांसद और प्रवक्ता संजय राउत ने कहा, विकास दुबे के एनकाउंटर पर सवाल नहीं खड़े करने चाहिए। हां, जिस तरह एनकाउंटर किया गया, उसपर सवाल जरूर है। लेकिन, राज्य में आठ पुलिसकर्मियों को शहीद कर दिया गया, उसके बाद इस तरह के एनकाउंटर पर सवाल नहीं उठाए जाने चाहिए। संजय राउत ने आगे कहा कि यह पहली बार नहीं है, जब इस तरह का एनकाउंटर हुआ हो।

कानपुर के बिकरू गांव में बीते दिनों हुई मुठभेड़ का मुख्य आरोपी विकास दुबे को शुक्रवार सुबह कानपुर के पास ही पुलिस ने एक एनकाउंटर में मार गिराया है। दुबे को पुलिस ने गुरुवार सुबह मध्य प्रदेश के उज्जैन से पकड़ा था। वह पिछले कई दिनों से फरार चल रहा था।

बिकरू गांव के कांड के बाद से ही दुबे की तलाश जारी थी और पुलिस ने उसपर पांच लाख रुपये का इनाम रखा था। उज्जैन से यूपी एसटीएफ की टीम उसे कानपुर लेकर आ रही थी। इसी दौरान शुक्रवार सुबह हादसा हो गया और दुबे घायल जवान की पिस्टल लेकर भागने लगा। पुलिस ने सरेंडर करने की अपील की, लेकिन दुबे ने फायरिंग शुरू कर दी। इसके बाद एनकाउंटर में पुलिस ने विकास दुबे को मार गिराया।

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF