विजयवर्गीय बोले- असम की तर्ज पर मध्य प्रदेश में भी बने एनआरसी

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 07-08-2018 / 11:19 PM
  • Update Date: 07-08-2018 / 11:19 PM

इंदौर। बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने आज कहा कि असम की तर्ज पर मध्यप्रदेश में भी राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) बनाकर सूबे से घुसपैठियों को खदेड़ने का अभियान शुरू किया जाना चाहिये। विजयवर्गीय ने कहा, यह मेरा निजी मत है कि प्रदेश में एनआरसी बनाया जाना चाहिये और घुसपैठियों को बाहर निकाला जाना चाहिये। इस विषय को सूबे में साल के आखिर में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिये बीजेपी के घोषणापत्र में भी शामिल किया जाना चाहिये।

उन्होंने कहा, मुझे इंदौर के एक मुस्लिम युवक ने बताया कि शहर की एक बस्ती में चार-पांच हजार बांग्लादेशी रहते हैं जो मकान बनाने जैसे काम करते हैं। मैं इस बारे में जांच के लिये शहर के आला अधिकारियों से चर्चा करूंगा।बीजेपी महासचिव ने कहा कि देश में अवैध तौर पर प्रवास कर रहे लोगों के कारण रोजगार के अवसरों और संसाधनों पर अनावश्यक दबाव पड़ रहा है। इसके साथ ही, देश की आंतरिक सुरक्षा के सामने गंभीर खतरा उत्पन्न हो गया है।

उन्होंने दावा किया कि अकेले पश्चिम बंगाल में करीब दो करोड़ बांग्लादेशी अवैध तौर पर प्रवास कर रहे हैं। बीजेपी महासचिव ने आरोप लगाया कि देश में अवैध तौर पर प्रवास कर रहे कई लोग नकली नोटों और अवैध हथियारों की तस्करी जैसी आपराधिक गतिविधियों के साथ आतंकी वारदातों में भी शामिल हैं।

विजयवर्गीय ने कहा, एनआरसी का मसला हिंदू-मुसलमान का नहीं, बल्कि देश के मूल निवासियों के बुनियादी अधिकारों के हनन का मामला है। उन्होंने एनआरसी के ही मुद्दे को लेकर पूछे गये एक सवाल पर आरोप लगाया कि कांग्रेस को देश की नहीं, बल्कि अपने वोट बैंक की चिंता है। बीजेपी महासचिव ने कहा, जो पार्टियां एनआरसी के पक्ष में खड़ी नहीं हो रही हैं, मैं उन्हें देशद्रोही तो नहीं कहूंगा। लेकिन मैं इन दलों को देश के प्रति गैर जवाबदार जरूर कहूंगा।

Share This Article On :
loading...

BIG NEWS IN BRIEF