यूपी: दुष्कर्म पीड़िता को पेट्रोल डालकर जिंदा जलाने की कोशिश, 5 आरोपी गिरफ्तार

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 05-12-2019 / 2:17 PM
  • Update Date: 05-12-2019 / 2:17 PM

उन्नाव। उन्नाव के बिहार थाना क्षेत्र में गैंगरेप की एक पीड़िता को गुरुवार सुबह पांच लोगों ने जिंदा जलाने की कोशिश की। पुलिस ने मामले में सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बताया कि यह घटना बिहार थानाक्षेत्र के सिंदुपुर गांव की है। पीड़िता 90 फीसदी तक जल गई है। उसे लखनऊ के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है। उधर, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीड़िता का इलाज सरकारी खर्च पर कराए जाने और आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का दावा किया है।

प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) ओ.पी. सिंह ने बताया, पीड़िता को जलाने की घटना बहुत ज्यादा दुर्भाग्यपूर्ण है। उसे बचाने के लिए हरसंभव कोशिश की जा रही है। उसे लखनऊ रेफर किया गया है। पुलिस सभी की कॉल डिटेल्स खंगाल रही है। हमने पीड़िता का स्टेटमेंट भी लिया है जो मामले में बहुत महत्वपूर्ण होगा। उत्तर प्रदेश के उन्नाव में गुरुवार को कुछ लोगों ने अपने साथियों के साथ मिलकर एक दुष्कर्म पीड़िता को जिंदा जलाने का प्रयास किया।

पीड़िता ने बयान दिया है कि गुरुवार तड़के 4 बजे वह रायबरेली जाने के लिए ट्रेन पकड़ने बैसवारा बिहार रेलवे स्टेशन जा रही थी। गौरा मोड़ पर गांव के हरिशंकर त्रिवेदी, किशोर, शुभम, शिवम और उमेश ने उसे घेर लिया और सिर पर डंडे से और गले पर चाकू से वार किया। इस बीच वह चक्कर आने से गिरी तो आरोपियों ने पेट्रोल डालकर आग लगा दी। बता दें कि इस केस की जांच रायबरेली पुलिस ने की थी। इस केस में दोनों आरोपी जेल से जमानत पर बाहर आए थे।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, रेप केस की सुनवाई में रायबरेली जाने के लिए पीड़िता स्टेशन की तरफ बढ़ रही थी, तभी रेप केस में नामजद दो आरोपियों समेत 5 लोगों ने पेट्रोल डालकर उसे जला दिया। चीखें सुनकर इकट्ठा हुए राहगीरों ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर आई पुलिस उसे लेकर सबसे पहले सुमेरपुर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पीएचसी पहुंची। नाजुक हालत में उसे उन्नाव जिला अस्पताल भेज दिया गया। इससे पहले एसडीएम दयाशंकर पाठक पीएचसी पहुंच गए।

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF