आज इसरो रचेगा इतिहास, चंद्रयान-2 का काउंटडाउन शुरू

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 22-07-2019 / 2:27 PM
  • Update Date: 22-07-2019 / 2:27 PM

नई दिल्ली। अंतरिक्ष की दुनिया में हिंदुस्तान आज एक बार फिर इतिहास बनाने जा रहा है। इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन यानी ISRO आज चंद्रयान-2 लॉन्च करेगा। इसका काउंटडाउन शुरू हो गया है और आज दोपहर 2.43 मिनट पर इसे लॉन्च किया जाएगा।

पहले इसे चंद्रयान को 15 जुलाई लॉन्च किया जाना था। 15 जुलाई को तकनीकी खराबी का पता चलने के बाद इसकी लॉन्चिंग रोक दी गयी थी लेकिन लिक्विड कोर स्टेज पर ईंधन भरने का काम पूरा हो गया है और सोमवार को 2.43 पर लॉन्च किया जाएगा।

इसरो ने बताया कि जियोसिंक्रोनस सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल मार्क-3 (जीएसएलवी मार्क-3) में आई तकनीकी खराबी को ठीक कर लिया गया है। चंद्रयान-2 भारत का दूसरा सबसे महत्वाकांक्षी चंद्र मिशन है। इसे श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर से भारी-भरकम रॉकेट जियोसिन्क्रोनस सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल-मार्क 3 (जीएसएलवी एमके 3) से लॉन्च किया जाएगा।

जीएसएलवी को ‘बाहुबली’ के नाम से भी पुकारा जाता है। यह रॉकेट 44 मीटर लंबा और 640 टन वजनी है. इसमें 3.8 टन का चंद्रयान रखा गया है। बता दें कि पृथ्वी और चांद की दूरी करीब 3,84,400 किलोमीटर है। उड़ान के कुछ ही मिनटों बाद 375 करोड़ रुपये का जीएसएलवी-मार्क-3 रॉकेट 603 करोड़ रुपये के चंद्रयान-2 को पृथ्वी की कक्षा में स्थापित करेगा। वहां के चांद की यात्रा शुरू होगी।

चंद्रयान-2 में लैंडर विक्रम और रोवर प्रज्ञान चांद तक जाएंगे। लैंडर विक्रम सितंबर या अक्टूबर में चांद पर पहुंचेगा और इसके बाद वहां प्रज्ञान काम शुरू करेगा। अब तक इसरो ने 3 जीएसएलवी-एमके 3 रॉकेट भेजे हैं। पहला रॉकेट 18 दिसंबर 2014 को, दूसरा 5 फरवरी 2017 को और तीसरा 14 नवंबर 2018 को भेजा गया। जीएसएलवी-एमके 3 का इस्तेमाल भारत के मानव अंतरिक्ष मिशन के लिए किया जाएगा, जो वर्ष 2022 के लिए तय है।

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF