विदेश में भी बजा सीएम भूपेश बघेल के नाम का डंका… ब्रिटिश संसद करेगी सम्मान… इंग्लैंड के दोनों सदनों को करेंगे संबोधित…

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 13-03-2019 / 11:10 AM
  • Update Date: 13-03-2019 / 11:10 AM

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नाम का डंका अब देश में ही नहीं बल्कि विदेश में भी बजा रहा है। बस्तर में टाटा संयंत्र लगाने अधिग्रहित स्थानीय आदिवासियों की जमीन लौटाने मामले में यूरोप की मीडिया की सराहना मिलने के बाद ब्रिटिश संसद हाउस ऑफ कॉमंस एवं हाउस ऑफ लॉर्ड्स ने सीएम भूपेश को सम्मनित करने का फैसला किया है।

सीएम भूपेश इंग्लैंड के दोनों सदनों को संबोधित भी करेंगे। दोनों को आमंत्रित करते हुए इस फैसले के साथ नरवा, गुरवा, घुरवा औऱ बारी के कांसेप्ट को अमलीजामा पहनाने का बकायदा प्रशस्ति पत्र भी भेजा गया है। इस फैसले को मुख्यमंत्री ने स्वीकार कर लिया है और 19 मई को संसद में अपने फैसले पर संबोधित करेंगे। मुख्यमंत्री ने आग्रह किया है कि ट्राईबल वेलफेयर मामले को और आगे बढ़ाने क्या किया जा सकता है इस विषय पर भी संबोधित करें।

लंदन में हियर एंड नॉउ पीआर कंपनी के डायरेक्टर मीनष तिवारी ने रविवार को उनके निवास स्थान पर ‘हाउस ऑफ लॉर्ड्स’ और ‘हाउस ऑफ कॉमंस’ के द्वारा जारी किया गया प्रशंसा पत्र सौंपा और उन्हें इस विषय पर जानकारी देने के लिए लंदन स्थित ‘हाउस ऑफ कॉमंस में आमंत्रित भी किया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने यह आमंत्रण स्वीकार करते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव के बाद इस आमंत्रण पर लंदन जरूर आएंगे। बता दें मनीष तिवारी छत्तीसगढ़ के रहने वाले हैं और लंदन स्थित हियर एंड नॉउ पीआर कंपनी के डायरेक्टर के डायरेक्टर हैं।

मनीष तिवारी ने जानकारी देते हुए बताया कि अब तक यूरोप में छत्तीसगढ़ की पहचान नक्सलवाद और एक पिछड़े हुए राज्य के रूप में थी। भूपेश सरकार के आदिवासियों की जमीन लौटाने और ऑर्गेनिक खेती को लेकर जो निर्णय लिए हैं उसको लेकर यूरोप में छत्तीसगढ़ की नई पहचान बनी है। मनीष तिवारी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने उनसे कहा है कि वे एक अध्ययन दल भी यूरोप भेजेंगे। इसे भूपेश सरकार की एक बड़ी उपलब्धि के रूप में माना जा रहा है।

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF