विराट की आक्रामकता भारत का मजबूत पक्ष बनी : सचिन तेंदुलकर

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 24-10-2017 / 1:47 PM
  • Update Date: 24-10-2017 / 1:47 PM

मुंबई। महान क्रिकेट सचिन तेंदुलकर ने आज कहा कि उन्होंने विराट कोहली में आक्रामकता की झलक उनके भारत के लिए पदार्पण करने के दौरान देखी थी और उनकी यह खूबी अब पूरी टीम में है। अपनी आक्रामकता के लिए पहचाने जाने वाले कोहली ने कल न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने 200वें एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में 31वां शतक जड़ा लेकिन टीम को हार का सामना करना पड़ा।
तेंदुलकर ने कहा, टीम में आने के बाद से उसके (कोहली के) रवैये में बदलाव नहीं आया है। मैंने उसके अंदर यह चिंगारी देखी थी जो कई लोगों को पसंद नहीं थी और कई लोग थे जो इसके लिए उसकी आलोचना करते थे।

उन्होंने कहा, और आज यह भारतीय टीम का मजबूत पक्ष बन गया है। उसमें काफी बदलाव नहीं आया लेकिन उसके आस पास के लोग बदल गए। उसका रवैया सिर्फ उसके प्रदर्शन के कारण बदला और एक खिलाड़ी के लिए यह महत्वपूर्ण है कि उसे खुद को जाहिर करने की स्वतंत्रता मिले। तेंदुलकर ने साथ ही कहा कि मौजूद भारतीय टीम इकाई के रूप में कहीं अधिक संतुलित है।

उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि टीम में शानदार संतुलन है, कई स्पिनर हैं जो बल्लेबाजी कर सकते हैं, काफी तेज गेंदबाज हैं जो बल्लेबाजी कर सकते हैं। कल भुवनेश्वर (कुमार) ने जो किया वह हमने देखा, उसके और हार्दिक पंड्या जैसे लोग विदेशी दौरों पर टीम के संलन को बदलेंगे।

तेंदुलकर और एक अन्य महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर आज शाम रायल ओपेरा हाउस में पत्रकार राजदीप सरदेसाई की किताब डेमोक्रेसी इलेवन- दे ग्रेट इंडियन स्टोरी के विमोचन के दौरान हर्षा भोगले के साथ चर्चा कर रहे थे।

गावस्कर ने इस दौरान मंसूर अली खान पटौदी से जुड़े किस्सों को याद किया और पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव और अजित वाडेकर की उनकी नेतृत्व क्षमता के लिए तारीफ की। इस मौके पर पूर्व भारतीय कप्तान वाडेकर, मोहम्मद अजहरूद्दीन, माधव आप्टे, नारी कांट्रैक्टर, विनोद कांबली और प्रवीण आमरे भी मौजूद थे।

Share This Article On :
loading...

BIG NEWS IN BRIEF