गोडसे को आतंकवादी कहने पर बोली पायल रोहतगी- बुढ़ापे में सठिया गए हैं कमल हासन

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 14-05-2019 / 3:27 PM
  • Update Date: 14-05-2019 / 3:27 PM

नई दिल्ली। तमिलनाडु में चुनाव प्रचार के दौरान एक गांव में भाषण देते हुए अभिनेता कमल हासन ने गांधीजी को गोली मारकर हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे को आजाद भारत का पहला आतंकवादी कहा तो पायल रोहतगी ने कमल हासन को कहा कि बुड्ढा सठिया गया है, उन्हें आतंकवादी और मर्डर के बीच का डिफरेंस नहीं पता है। पायल ने कहा, ‘कमल हासन पिछले काफी समय से अपना पॉलिटिकल करियर प्रमोट कर रहे हैं और इसके लिए वह बयान बाजी भी कर रहे हैं।

हिन्दुस्तान में जब अपना पॉलिटिकल करियर बनाना है तो सबसे पहले खुद को सुर्खियों में लाना होता है और खबरों में आने के लिए हिन्दू आतंक शब्द से अच्छा और आसान कोई शब्द नहीं। आप हिन्दू आतंकवाद, जैसे शब्दों का इस्तेमाल करके अपनी टीआरपी बढ़ा लेते हैं। कहते हैं न कि बुढ़ापे में आदमी सठिया जाता है। आप भी अब जवान तो रहे नहीं, बूढ़े हो गए है और बुढ़ापे में आप भी सठिया गए हैं।

क्या आप यह नहीं जानते कि नाथूराम गोडसे एक हिन्दू ब्राह्मण थे और गांधीजी भी हिन्दू थे। एक हिन्दू जब दूसरे हिन्दू को मारा तो आतंक नहीं बल्कि मर्डर हुआ। आतंकवाद वह होता है, जो एक धर्म दूसरे धर्म या वैसे लोगों को खत्म करना चाहता है, जो उनकी विचारधारा के नहीं होते। इस हिसाब से आजाद भारत का पहला आतंकवादी मोहम्मद अली जिन्ना था।

जिन्ना ने मासूम हिन्दू, मुस्लिम, सिख, पारसी और बुद्धिष्ठ लोगों का खूब बहाया क्योंकि उनको अपने लोगों के लिए पाकिस्तान चाहिए था। एक धर्म का आदमी जब किसी दूसरे धर्म के लोगों को टारगेट करता है, तो उसे आतंकवाद कहते हैं, इसके लिए रीजन अलग-अलग भी हो सकते हैं। नॉन मुस्लिम को काफिर कहा जाता है और मुस्लिम धर्म के राजाओं ने सदियों तक तमाम हिन्दुओं को इस्लाम धर्म अपनाने पर मजबूर किया और इनकार करने पर कत्ल किया।

आप वोट पाने के लिए किस हद तक जा सकते हैं, यह दिखाई दे रहा है। अब आपको नेता बनना है क्योंकि आपका ऐक्टिंग करियर खत्म, खराब और फ्लॉप हो चूका है, पिछले कई सालों में रिलीज़ आपकी कोई भी फिल्म नहीं चली है। यह आपका प्रॉब्लम है, हिन्दुओं के खिलाफ साजिश रचने वाले कमल हासन मैं इंसान के तौर पर आपकी रिस्पेक्ट नहीं करती हूं। हाल ही में वह इलेक्शन के प्रचार के लिए तमिलनाडु के एक गांव में गए थे, जहां उन्होंने भाषण देते हुए नाथूराम गोडसे को आजाद भारत का पहला आतंकवादी बताया।’

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF