कांग्रेस अध्यक्ष चुनने की प्रक्रिया से सोनिया गांधी-राहुल ने खुद को किया अलग

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 10-08-2019 / 4:23 PM
  • Update Date: 10-08-2019 / 4:24 PM

नई दिल्ली। कांग्रेस वर्किंग कमेटी (सीडब्ल्यूसी) की शनिवार को अहम बैठक हुई। इस दौरान सोनिया-राहुल गांधी भी पार्टी दफ्तर में मौजूद रहे, लेकिन थोड़ी देर बाद चले गए। कांग्रेस के कई बड़े नेताओं ने नए पार्टी अध्यक्ष को लेकर विचार-विमर्श किया। पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस कार्यसमिति ने अध्यक्ष के चुनाव के लिए 5 समितियां बनाकर नेताओं से राय मांगी है। रात 8.30 बजे हम दोबारा मिलेंगे और 9 बजे तक नाम फाइनल होने की उम्मीद है।

यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने कहा, मैं और राहुल अध्यक्ष पद के लिए हो रहे विचार-विमर्श प्रक्रिया का हिस्सा नहीं हैं। सीडब्ल्यूसी के सदस्य देशभर से आए नेताओं से चर्चा करेंगे। इससे पहले शुक्रवार को सूत्रों के हवाले से मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया था कि जल्द ही पार्टी अध्यक्ष का चुनाव कर लिया जाएगा। अध्यक्ष पद की दौड़ में मल्लिकार्जुन खड़गे और मुकुल वासनिक सबसे आगे चल रहे हैं।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा, मैं कल दो दिनों के लिए वायनाड जाऊंगा क्योंकि वहां (बाढ़ के कारण) स्थिति बहुत खराब है। सुबह 11 बजे शुरू हुई बैठक में राहुल गांधी, संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ-साथ अहमद पटेल, पी. चिदंबरम, गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा, ज्योतिरादित्य सिंधिया, प्रियंका गांधी वाड्रा, सचिन पायलट, जितिन प्रसाद और सिद्दारमैया जैसे वरिष्ठ नेताओं के साथ अन्य लोग मौजूद रहे।

सूत्रों के मुताबिक गांधी परिवार मध्य आयु वर्ग के किसी ऐसे शख्स को कांग्रेस का अंतरिम अध्यक्ष चुनना चाहती है जिसे संगठन चलाने का अनुभव हो। इस लिहाज से मुकुल वासनिक अंतरिम अध्यक्ष की रेस में अपने प्रतिद्वन्दियों सुशील शिंदे और मल्लिकार्जुन खड़गे से आगे निकल जाते हैं। मुकुल वासनिक सबसे लंबे समय तक लगातार कांग्रेस महासचिव रहे हैं। इसके अलावा मुकुल वासनिक राजीव गांधी फाउंडेशन के भी सदस्य रहे हैं, इससे साफ होता है कि वह गांधी परिवार के बेहद करीबी हैं।

कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक के बाद कांग्रेस कार्यसमिति को क्षेत्रवार पांच जोन में बांटा गया है। इस जोन के नेता अध्यक्ष पद को लेकर कांग्रेस विधायक दल के नेता, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष, सांसद और सचिवों से बात करेंगे। इस चर्चा के बात के बाद कांग्रेस के अंतरिम अध्यक्ष का ऐलान किया जाएगा। कांग्रेस द्वारा बनाए गए ईस्ट जोन में सोनिया गांधी जबकि वेस्ट जोन में राहुल गांधी का नाम है। सोनिया गांधी ने इसी जोन में नाम डाले जाने पर आपत्ति जताई है।

वेस्ट जोन
वेस्ट जोन में गुजरात, दादर नगर हवेली, दमन दिव, गोवा, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, मुम्बई और राजस्थान शामिल हैं। इस जोन में राहुल गांधी, मल्लिकार्जुन खड़गे, गुलाम नबी आजाद, मोतीलाल वोरा, एके एंटनी, सिद्दरामैया, जितिन प्रसाद, कुलदीप विश्नाई और श्रीनिवासन बी वी शामिल हैं।

ईस्ट जोन
ईस्ट जोन में सोनिया गांधी, तरुण गोगोई, कुमारी शैलजा, केसी वेणुगोपाल, जितेंद्र सिंह, आरपीएन सिंह, पीएल पुनिया, दीपेंद्र हुड्डा, शक्तिसिंह गोहिल शामिल हैं। इस जोन में देश के बिहार, छत्तीसगढ़, झारखंड, ओडिशा और पश्चिम बंगाल शामिल है।

नॉर्थ जोन
नॉर्थ जोन में प्रियंका गांधी, अविनाश पांडे, पी चिदंबरम, ज्योतिरादित्य सिंधिया, पीसी चाको और आशा कुमारी शामिल है। इन जोन में दिल्ली, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, पंजाब, चंडीगढ़, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश राज्य आते हैं।

नार्थ ईस्ट जोन
नार्थ ईस्ट जोन में अम्बिका सोनी, अहमद पटेल, हरीश रावत, दीपक बाबरिया, मीरा कुमार, ओमान चांडी और सचिन राव शामिल हैं। इस जोन में अरुणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, मिजोरम, नागालैंड, मेघालय, सिक्किम और त्रिपुरा शामिल है।

साउथ जोन
साउथ जोन में मनमोहन सिंह, आनंद शर्मा, मुकुल वासनिक, रणदीप सुरजेवाला, राजीव साठव, अधीर रंजन चौधरी शामिल हैं। इस इलाके में आंध्र प्रदेश, कर्णाटक, केरल, तेलंगाना, तमिलनाडु, लक्षद्वीप और पुदुचेरी शामिल है।

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF