सोनिया और राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर साधा निशाना, कहा- पीएम बिना डरे, बिना घबराए सच बताएं

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 26-06-2020 / 4:25 PM
  • Update Date: 26-06-2020 / 4:26 PM

नई दिल्ली। लद्दाख में LAC पर भारत और चीन के बीच तनाव बरकरार है। दोनों देश की सेनाओं के बीच गलवान में हुई खूनी झड़प के बाद से तनाव और ज्यादा बढ़ गया है। लगातार विपक्ष बीजेपी पर निशाना साध रही है। शुक्रवार को राहुल गांधी ने एक वीडियो ट्वीट कर पीएम मोदी पर निशाना साधा।

राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने कहा है कि चीन ने हमारी एक इंच भी जमीन नहीं ली है। लेकिन सैटेलाइट इमेज से पता चलता है कि चीन भारत के अंदर आ गया है। ऐसे में पीएम मोदी को देश को सच बताना चाहिए। क्योंकि अगर वह सच नहीं बोलेंगे तो इससे चीन को ही फायदा होगा।

राहुल गांधी ने कहा कि पूरा देश अपने 20 शहीदों को नमन कर रहा है। आज पूरा देश सेना और सरकार के साथ खड़ा है। लेकिन एक बहुत जरूरी सवाल आज उठ रहा है। कुछ दिन पहले प्रधानमंत्री जी ने कहा था कि हिंदुस्तान की एक इंच जमीन भी किसी ने नहीं ली है। कोई हिंदुस्तान के अंदर नहीं आया। मगर सुनने को मिल रहा है कि चीन ने हमारी जमीन छीनी है। एक नहीं बल्कि तीन जगह। प्रधानमंत्री जी आपको सच बोलना ही पड़ेगा।

घबराने की कोई जरूरत नहीं है। अगर आप कहेंगे की जमीन नहीं गई है और अगर सच मुच में जमीन गई होगी तो इससे चीन का फायदा होगा। हमें मिल कर इनसे लड़ना है और इन्हें उठाकर वापस फेंकना होगा। आप बिना घबराए ये बात कहिए कि चीन ने हमारी जमीन ली है ओर हम कार्रवाई करने जा रहे हैं. पूरा देश आपके साथ खड़ा है।

वहीं कांग्रेस पार्टी की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि आज जब सीमा पर संकट की स्थिति है तो ऐसे समय सरकार अपनी जिम्मेदारी से पीछे नहीं हट सकती। उन्होंने यह सवाल भी किया जब चीन की सेना भारत की भूभागीय अखंडता का उल्लंघन कर रही है तो क्या ऐसी स्थिति में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को विश्वास में लेंगे?

सोनिया ने गलवान घाटी में शहीद हुए 20 जवानों के सम्मान में कांग्रेस की ओर से ‘शहीदों को सलाम दिवस’ मनाए जाने के मौके पर एक वीडियो संदेश में यह भी कहा कि कांग्रेस भारतीय सेना और सैनिकों के साथ मजबूती से खड़ी है। उन्होंने कहा, सैनिकों के शौर्य को नमन करने के लिए पूरे देश में कांग्रेसजन और देश के नागरिक ‘शहीदों को सलाम दिवस’ मना रहे हैं। मैं खुद को उनके साथ जोड़ती हूं।

कांग्रेस की शीर्ष नेता ने कहा, लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी घुसपैठ को रोकते हुए हमारे 20 सैनिक वीरगति को प्राप्त हुए। देश उनके बलिदान के लिए सदैव आभारी रहेगा। हमें हमारे सैनिकों और सेना पर नाज है। देश सुरक्षित है क्योंकि हमारी सेना प्राणों की आहुति देकर भी देश की हिफाजत करती है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस हमारी सेना और सैनिकों के प्रति आदरभाव प्रकट करते हुए मजबूती के साथ खड़े रहने के संकल्प को दोहराती है। सोनिया ने कहा, आज जब भारत चीन सीमा पर संकट की स्थिति है तो केंद्र सरकार अपनी जिम्मेदारी से पीछे नहीं हट सकती।

सोनिया ने कहा कि प्रधानमंत्री कहते हैं कि हमारी सीमा में कोई घुसपैठ नहीं हुई, लेकिन दूसरी तरफ रक्षा मंत्री और विदेश मंत्रालय बड़ी संख्या में चीनी सैनिकों की मौजूदगी और अनेकों बार चीनी घुसपैठ की चर्चा करते हैं। हमारी फौज के जनरल, रक्षा विशेषज्ञ और समाचार पत्र उपग्रह से ली गई तस्वीरें दिखाकर चीनी घुसपैठ की पुष्टि कर रहें हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष ने सवाल किया, आज जब हम शहीदों को नमन कर रहे हैं तो देश जानना चाहता है कि अगर चीन ने लद्दाख में हमारी सरमजमीं पर कब्जा नहीं किया तो फिर हमारे 20 सैनिकों की शहादत क्यों और कैसे हुई?

उन्होंने यह भी पूछा, चीन के सैनिकों द्वारा लद्दाख इलाके में कब्जा की गई हमारी सरजमीं को मोदी सरकार कैसे और कब वापस लेगी? क्या चीन द्वारा गलवान घाटी और पेगोंग सो इलाके में नए निर्माण और नए बंकर बनाकर हमारी भूभागीय अखंडता का उल्लंघन किया जा रहा है? क्या प्रधानमंत्री इस विषय पर देश को विश्वास में लेंगे?

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, आज पूरा देश सेना और सैनिकों के साथ खड़ा है। सरकार को चाहिए कि वह भारतीय सेना को पूरा सहयोग, समर्थन और ताकत दे। यही सच्ची देशभक्ति है।

Share This Article On :
Loading...

BIG NEWS IN BRIEF