अंतर्विभागीय समन्वय के साथ शासकीय योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन पर प्रभारी मंत्री श्री कवासी लखमा ने दिया जोर

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 18-01-2021 / 6:14 PM
  • Update Date: 18-01-2021 / 6:14 PM

जिला स्तरीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक

धमतरी। प्रदेश के वाणिज्य कर (आबकारी), वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री श्री कवासी लखमा ने कोविड 19 के दौरान धमतरी जिले में बीमारी की रोकथाम एवं सुरक्षा तथा मरीजों के इलाज के लिए किए गए कार्यों के मद्देनजर जिले के अधिकारी, जनप्रतिनिधि, स्वयंसेवी संस्था एवं अन्य के प्रयासों को सराहा। उन्होंने साथ ही हर्ष व्यक्त किया कि कोविड 19 का टीकाकरण शुरू हो गया है और पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को टीकाकरण किया जा रहा है। उन्होंने कोविड 19 जैसे विश्वव्यापी महामारी के प्रति अभी भी लोगों को सावधानी बरतने की अपील की। वे आज सुबह 11 बजे कलेक्टोरेट सभाकक्ष में जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेकर विभागीय गतिविधियों और योजनाओं की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे।

इस मौके पर प्रभारी मंत्री ने जिले में चालू खरीफ विपणन वर्ष में समर्थन मूल्य पर अब तक 90 प्रतिशत धान खरीदी किए जाने पर संतोष जताते हुए उम्मीद की कि शेष 10 प्रतिशत धान की खरीदी भी जल्द से जल्द पंजीकृत किसानों से कर ली जाएगी। जिला विपणन अधिकारी ने इस मौके पर बताया कि जिले में अब तक एक लाख से अधिक किसानों से छः अरब 97 करोड़ 80 लाख रूपए की तीन लाख 71 हजार 652 मीट्रिक टन धान की खरीदी कर ली गई है। इसके अलावा मिलर्स द्वारा खरीदी केन्द्रों से एक लाख 28 हजार 255 मीट्रिक टन धान का उठाव कर लिया गया है तथा खरीदी केन्द्रों में पर्याप्त मात्रा में बारदाने उपलब्ध हैं। इस पर प्रभारी मंत्री ने खरीदी केन्द्रों में रखे धान का जल्द से जल्द एवं नियमित उठाव कराने के निर्देश दिए।

राज्य शासन की महत्ती गोधन न्याय योजना की समीक्षा के दौरान उप संचालक कृषि ने बताया कि जिले में पंजीकृत 324 गोठानों में से 176 गोठान क्रियाशील हैं। अब तक इन गोठानों में तीन करोड़ 80 लाख रूपए की एक लाख 90 हजार 148 क्विंटल गोबर खरीदी हितग्राहियों से कर भुगतान कर दिया गया है। इसके अलावा 272 गोठानों में पांच हजार 474 टन पैरादान किसानों द्वारा किया गया है। बैठक में यह भी बताया गया कि जिले 122 गोठान के वर्मी खाद के सैम्पल परीक्षण के लिए गए, जिनमें से 99 सैम्पल मानक पाए गए। अब तक गोठानों में तैयार 1125 क्विंटल वर्मी खाद में से 584 क्विंटल वर्मी खाद 434 किसानांे को बेचा गया। इस तरह एक हजार रूपए प्रति क्विंटल की दर से अब तक चार लाख 95 हजार रूपए का वर्मी खाद जिले में बेचा गया है। इसके साथ ही 435 लो-काॅस्ट वर्मी टांका बनाए गए हैं, 118 गोठनों के 366 टांकों में गोबर भराई की गई। इससे 14 लाख 64 हजार रूपए के गोबर को सुरक्षित करने में सुविधा मिली। प्रभारी मंत्री ने जिले के इस प्रयास को काफी सराहा। साथ ही निर्देशित किया कि प्रदेश सरकार की इस महत्ती योजना को अंतर्विभागीय समन्वय के साथ निर्बाध रूप से संचालित करना सुनिश्चित किया जाए।

इस मौके पर यह भी बताया गया कि जिला जल उपयोगिता समिति के निर्णय अनुसार जिले में रबी सीजन में 23 हजार 500 हेक्टेयर क्षेत्र में धान फसल की सिंचाई के लिए गत पांच जनवरी से बांधों से पानी छोड़ा जा रहा है। विभिन्न निर्माण एजेंसियों की कार्यों की समीक्षा करते हुए प्रभारी मंत्री ने विशेष रूप से जोर दिया कि स्वीकृत निर्माण कार्यों को गुणवत्तापूर्वक तथा तय समय सीमा में किया जाए। इसके अलावा महिला एवं बाल विकास विभाग के भवनविहीन आंगनबाड़ियों को संचालित करने के लिए जल्द से जल्द भवन बनाने के निर्देश भी प्रभारी मंत्री ने दिए।

बैठक में उपस्थित जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री मयंक चतुर्वेदी ने महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना में सृजित मानव दिवस की जानकारी देते हुए बताया कि अब तक प्राप्त 75 लाख मानव दिवस सृजन करने के लक्ष्य में से 80 प्रतिशत लक्ष्य की प्राप्ति कर ली गई है तथा शेष लक्ष्य 31 मार्च तक पूरा कर लिया जाएगा। इसी तरह 18 हजार 877 मजदूरों को 100 दिवस का रोजगार उपलब्ध कराने के लक्ष्य के विरूद्ध अब तक लगभग 9800 मजदूरों को 100 दिवस का रोजगार प्रदाय किया गया है। इसके अलावा मनरेगा के अभिसरण से धान संग्रहण केन्द्रों में दूसरे चरण में स्वीकृत सभी 143 चबूतरों का निर्माण कर लिया गया है। ज्ञात हो कि पहले चरण में 190 चबूतरे स्वीकृत कर बनाए गए। इसी तरह अभिसरण से स्वीकृत 15 पंचायत भवनों से से दस भवनों का निर्माण पूरा कर लिया गया है, शेष प्रगति पर है।

बैठक में नरवा उपचार के लिए चिन्हांकित 34 नालों की जानकारी देते हुए बताया गया कि इनमें 182 कार्य स्वीकृत किए गए, जिनमें से 132 कार्य पूरे कर लिए गए हैं। इस मौके पर प्रभारी मंत्री ने स्वास्थ्य, खनिज विभाग, उद्यानिकी विभाग एवं अन्य विभाग के कार्यों के प्रगति की समीक्षा भी की। बैठक के अंत में कलेक्टर श्री जय प्रकाश मौर्य ने जिले के प्रभारी मंत्री को भरोसा दिलाया कि शासन की महत्ती योजनाओं की प्रगति की वे सतत् माॅनिटरिंग करेंगे तथा बैठक में प्रभारी मंत्री द्वारा दिए गए निर्देशों का गंभीरता से जिले में पालन सुनिश्चित करेंगे। इस अवसर पर विधायक सिहावा डाॅ.लक्ष्मी ध्रुव, नगरपालिक निगम धमतरी के महापौर श्री विजय देवांगन, पूर्व धमतरी विधायक श्री गुरूमुख सिंह होरा पुलिस अधीक्षक श्री बी.पी.राजभानू सहित जिला स्तरीय अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Share This Article On :

BIG NEWS IN BRIEF