राज्यसभा के लिए सरोज पांडेय ने भरा नामांकन, सीएम रमन समेत मंत्री और विधायक रहे मौजूद

  • ByJaianndata.com
  • Publish Date: 13-03-2018 / 5:45 PM
  • Update Date: 13-03-2018 / 5:45 PM

रायपुर। बीजेपी की राष्ट्रीय महासचिव सरोज पांडेय ने राज्यसभा के लिए अपना नामांकन दाखिल कर दिया है। कल छत्तीसगढ़ से राज्यसभा उम्मीदवार के तौर पर सरोज पांडेय के नाम का ऐलान किया गया था। इस दौरान भाजपा का शक्ति प्रदर्शन भी दिखा। सरोज पांडेय के साथ मुख्यमंत्री रमन सिंह बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक, मंत्री अजय चंद्राकर, मंत्री राजेश मूणत, मंत्री केदार कश्यप, मंत्री अमर अग्रवाल, मंत्री महेश गागड़ा, विधायक श्रीचंद सुंदरानी समेत बड़ी संख्या में बीजेपी पदाधिकारी मौजूद रहे।

दिल्ली में अब हम और मजबूत हुए
इस मौके पर मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कहा कि दिल्ली में अब हम और मजबूत हुए हैं। अब तक सरोज पांडेय राष्ट्रीय महासचिव की जिम्मेदारी संभाल रही थीं और अब राज्यसभा सांसद के रूप में सर्वोच्च सदन में छत्तीसगढ़ के मुद्दों को उठाएंगी। सीएम ने कहा कि मैं सरोज जी को अभी से बधाई देता हूं। बता दें कि कांग्रेस के उम्मीदवार उतारे जाने पर रमन सिंह ने कहा कि चुनाव जब होता है, तो हर किसी को शौक होता है चुनाव लड़ने का। उन्होंने कहा कि अच्छी बात है कि कांग्रेस ने उम्मीदवार उतारा है। क्रॉस वोटिंग के सवाल पर सीएम ने कहा कि 23 मार्च को जब चुनाव होगा तो तस्वीर खुद ब खुद सामने आ जाएगी।

दिखा भाजपा का शक्ति
आज नामांकन दाखिल करने से पहले सरोज पांडेय भाजपा प्रदेश कार्यालय पहुंचीं थीं। यहां भाजपा का शक्ति प्रदर्शन भी दिखा। भारी संख्या में बीजेपी कार्यकर्ता और लोगों का हुजूम यहां उमड़ पड़ा था। सरोज पांडेय को फूलमालाएं पहनाई गईं। ढोल-नगाड़ों के बीच कार्यकर्ताओं ने सरोज पांडेय का स्वागत किया गया। उनके साथ तमाम मंत्री और बीजेपी पदाधिकारी और कार्यकर्ता मौजूद रहे। सरोज पांडेय राज्यसभा सांसद भूषणलाल जांगड़े की जगह लेंगी। उनका कार्यकाल अप्रैल में खत्म हो रहा है।

सर्वश्रेष्ठ महापौर का भी अवॉर्ड मिल चुका है
बता दें कि सरोज पांडेय का राजनीतिक जीवन छात्र राजनीति से शुरू हुआ था। वे दुर्ग की 2 बार लगातार महापौर रह चुकी हैं। वहीं 2008 में उन्होंने वैशालीनगर सीट से विधायक का चुनाव लड़ा था। जिसमें उन्होंने जीत हासिल की थी, साथ ही वे उस समय दुर्ग की महापौर भी थीं। वहीं 15वीं लोकसभा के लिए उन्होंने सांसद का चुनाव भी जीता। यानि वे एक ही समय में महापौर भी थीं। साथ ही विधायक और सांसद का चुनाव भी जीता। उनका नाम इसके लिए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के लिए भी नामित हुआ। उन्हें सर्वश्रेष्ठ महापौर का भी अवॉर्ड मिल चुका है।

Share This Article On :
loading...

BIG NEWS IN BRIEF